Char Dham Yatra 2022: आज से शुरू हुई चारधाम की यात्रा, यात्रियों की संख्या निर्धारित
chardham

उत्तराखंड के उच्च गढ़वाल क्षेत्र में स्थित प्रसिद्ध गंगोत्री और यमुनोत्री धामों के कपाट छह माह बंद रहने के बाद मंगलवार को अक्षय तृतीया के अवसर पर श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए गए और इसी के साथ इस साल की चारधाम यात्रा का आरंभ हो गया ।

Gas Cylinder Price: गैस सिलेंडर दाम में भारी गिरावट, जानें कितना हुआ सस्ता?   



उत्तरकाशी जिले में स्थित गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट क्रमश: पूर्वाह्न 11:15 और अपराह्न 12:15 पर विधिवत पूजा अर्चना के बाद खोल दिए गए । गंगोत्री मंदिर के कपादोद्घाटन के अवसर पर हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं के साथ ही उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी भी मौजूद रहे । मंदिर खोले जाने के बाद पहली पूजा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम से की गयी ।

 

अगर आप भी है बेरोजगार तो मिल सकते हैं, हर महीने इतने रुपये, जल्द करवाए रजिस्ट्रेशन...



मुख्यमंत्री ने मां गंगा को समर्पित गंगोत्री मंदिर में पूजा अर्चना करने के बाद कहा, ' आज से चारधाम यात्रा विधिवत रूप से शुरू हो रही है । मैं सभी श्रद्धालुओं का देवभूमि उत्तराखंड आगमन पर स्वागत करता हूं । यह यात्रा ऐतिहासिक हो, सबकी यात्रा सरल और सुगम हो, सबके मंगल की कामना करता हूं । हमारी सरकार सुगम एवं सुरक्षित चारधाम यात्रा के लिये वचनबद्ध है ।' धामी ने फोन के माध्यम से यमुनोत्री धाम के मुख्य पुजारियों एवं वहां उपस्थित समस्त श्रद्धालुजनों को भी मंदिर के कपाट खुलने के अवसर पर अपनी शुभकामनाएं दीं ।

 


 


चारधाम के नाम से प्रसिद्ध दो अन्य धामों—केदारनाथ और बदरीनाथ के कपाट क्रमश: छह मई और आठ मई को खुलेंगे ।

 

Bank Holidays In May 2022: इस महीने इतने दिन बैंक रहेंगे बंद!, जल्द निपटा लें अपने जरूरी काम


पिछले दो साल से कोविड महामारी के कारण बाधित रही चारधाम यात्रा में रिकार्ड श्रद्धालुओं के आने की संभावना के मद्देनजर राज्य सरकार ने जहां प्रत्येक धाम में प्रतिदिन दर्शन करने के लिए तीर्थयात्रियों की संख्या निर्धारित कर दी है, वहीं इसका निर्विघ्न संचालन सुनिश्चित करने के लिए पुलिस ने भी सत्यापन अभियान चलाकर करीब ढाई हजार संदिग्धों की पहचान कर उनमें से 10 को गिरफतार किया है ।

 

 



इस बीच, चारधामों के लिए पर्यटन विभाग के आनलाइन पोर्टल पर पंजीकरण के लिए उमड़ रही श्रद्धालुओं की भारी भीड़ के मद्देनजर राज्य सरकार ने धामों में प्रतिदिन दर्शन करने वाले श्रद्धालुओं की अधिकतम संख्या तय कर दी है ।

 



प्रदेश के संस्कृति और धर्मस्व सचिव हरिचंद्र सेमवाल द्वारा इस संबंध में जारी एक आदेश के अनुसार, बदरीनाथ में प्रतिदिन अधिकतम 15000 श्रद्धालु, केदारनाथ में 12000, गंगोत्री में 7000 और यमुनोत्री में 4000 तीर्थयात्री दर्शन कर सकेंगे । फिलहाल यह व्यवस्था शुरूआती 45 दिनों के लिए बनाई गयी है ।

Free Scooty Registration: आ गयी 10वीं, 12वीं पास के लिए फ्री स्कूटी योजना, ऐसे करवाए अपना रजिस्ट्रेशन



उधर, चारधाम यात्रा शुरू होने से पहले पुलिस द्वारा प्रदेश में बाहर से आए लोगों के भौतिक सत्यापन के लिए चलाए गए अभियान में कुल 2526 लोग संदिग्ध पाए गए जिनमें से 10 को गिरफ्तार किया गया ।
 

सरसों के तेल की कीमतों में भारी गिरावट, 100 रुपये लीटर के करीब पहुंचा दाम


पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने यहां बताया कि मुख्यमंत्री के निर्देश पर 21 अप्रैल से चलाए गए 10 दिवसीय अभियान के दौरान मिले शेष संदिग्धों के विरूद्ध पुलिस अधिनियम तथा अन्य अधिनियमों के तहत कार्यवाही की गयी है ।


 

Share this story