वाराणसी में 2 करोड़ की ठगी मामले में आया नया अपडेट, आज हुई न्यायालय में सुनवाई
varanasi news

वाराणसी। थाना चेतगंज में 2 करोड़ रुपयों की ठगी प्रकरण के चारों आरोपियों को पुलिस कस्टडी रिमांड पर आज IO ने अर्जी डाली है। जिला न्यायलय में आज सुनवाई हुई। पुलिस ने पेश किए PCR पर लेने के ठोस आधार एवं साक्ष्य।

 

आपको बता दें कि न्यायलय में डिफेंस के वकीलों ने भी बहस किया। पुलिस की दी गई दलीलों से न्यायलय संतुष्ट होकर स्वीकृत किया। कल से शुरू होगी तीन दिनों की पुलिस रिमांड।


अब सीनियर ज्वाइंट टीम करेगी गहराई से इन चार ठगों से अलग अलग पूछताछ। पुलिस ने 100 प्रश्नों की लिस्ट तैयार की है। इन प्रश्नों के चक्रव्यूह से अब ठगियों का बचना नामुमकिन है।

 

इस पूछताछ में वाराणसी के हवाला कारोबारियों के चेहरे भी बेनकाब हो सकते हैं।आरोपी के पूछताछ की वीडियोग्राफी भी की जाएगी।जरूरत पड़ने पर अन्य साइंटिफिक टेस्ट कराने की भी तैयारी चल रही है। 

 

 

जानिए क्या था पूरा मामला 

बंगलूरू की एक रेशम फर्म का ऑफिस मलदहिया में है। अकथा चौराहा निवासी अंकित शुक्ला वहां मैनेजर है। उसी ऑफिस में अंकित का साला अश्वनी भी काम करता है।  अंकित शुक्ला ने तहरीर में बताया था कि अश्वनी की मुलाकात कुछ दिन पूर्व अभिषेक और यश नाम के व्यक्तियों से हुई थी।

दोनों ने अश्वनी को बताया था कि उनके अकाउंट संबंधी समस्याओं के समाधान की फर्म है और एक प्रतिशत कमीशन में हम टैक्स पर बड़ी भारी राहत दिलाते हैं। जिस पर अश्वनी ने उन दोनों की मुलाकात हमसे करवाई और हमने दो करोड़ पर टैक्स की छूट की बात की थी।

अंकित ने बताया कि इसके बाद अपने साले अश्वनी के साथ 20 अप्रैल को अभिषेक और यश के ऑफिस में पहुंचा तो वहां दो बाउंसर संदीप और सोनू भी मिले। अभिषेक और यश ने बताया कि संदीप और सोनू को पैसा गिनने के लिए बुलाया गया है। इसके बाद पहले कमरे में अंकित, अश्वनी, यश और सोनू बैठ गए।

यहाँ पढे पूरी ख़बर- वाराणसी पुलिस ने दो करोड़ की ठगी मामले का किया खुलासा, फिल्मी अंदाज में देते थे वारदात को अंजाम

ठगों के इस शातिर गिरोह को पकड़ने वाली पुलिस टीम -Insp अंजनी पांडे, SI राज कुमार पांडे, SI सूरज तिवारी सहित पूरी टीम को ACS Home द्वारा 1 लाख रुपए के पुरुस्कार देने की घोषणा की गई ।

Share this story