×

Rae Bareli News: भवानीगढ़ चौराहे पर वीरांगना ऊदा देवी पासी का पूरी शिद्दत से मनाया गया शहीद दिवस

Rae Bareli News: भवानीगढ़ चौराहे पर वीरांगना ऊदा देवी पासी का पूरी शिद्दत से मनाया गया शहीद दिवस

रायबरेली। शिवगढ ब्लॉक मुख्यालय के सामने भवानीगढ़ चौराहे पर अखिलेश शुक्ल की अगुवाई में वीरांगना ऊदा देवी पासी का शहीद दिवस मनाया गया l जिसमें मुख्य अतिथि कांग्रेस प्रदेश महासचिव सुशील पासी रहे l

उन्होंने ब्लॉक अध्यक्ष एडवोकेट गौरव मिश्र, सविता रावत, सुमित्रा रावत, अखिलेश शुक्ल आदि के साथ वीरांगना ऊदा देवी के चित्र पर माल्यार्पण किया कहा वीरांगना ऊदा देवी के बलिदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता l

Rae Bareli today News in hindi

वक्ताओं ने वीरांगना ऊदा देवी के व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर विस्तृत प्रकाश डाला और उनकी वीरता के कई किस्से भी सुनाए बताया कि जब युद्ध के मैदान में आखिरी गोली बचने पर दुश्मनों के हाथों न मरना पड़े यह सोच उन्होंने उस आखिरी गोलू से खुद को मार लिया और अपने प्राण त्याग कर अमर हो गई l

समारोह को गौरव मिश्र , पप्पू शुक्ल आदि ने भी संबोधित किया l कार्यक्रम का संचालन आशीष कुमार त्रिवेदी द्वारा किया गया l इस मौके पर दुर्गेश कुमार,अशोक कुमार यादव,बृजेश कुमार आदि  मौजूद रहे l

एकल अभियान के तहत शिवगढ संच व महाराजगंज संच की आचार्यो का चल रहा तीन दिवसीय प्रशिक्षण

शिवगढ रायबरेली। देश के कई गांवों में चल रहे एकल अभियान के तहत 3 दिवशीय प्रशिक्षण का  कार्यक्रम तहशील के सरस्वती विद्या मंदिर में चल रहा है, जिसमें मुख्य अतिथि रहे ब्लाक प्रमुख सतेंद्र प्रताप सिंह विशिष्ठ अतिथि के रूप में अवधेश मिश्रा की उपस्थिति रही कार्यक्रम की शुरुवात अवधेश मिश्र ने दीप प्रज्वलित कर की। 

वहीं आचार्या सुभाषिनी ने गायत्री मंत्र आयुषी ने चौपाई के साथ प्रशिक्षण को और आगे बढ़ाया सभी ने अपनी बात रखते हुए कहा की एकल विद्यालय के माध्यम से छोटे छोटे गांवों के बच्चो को शिक्षा के माध्यम से संस्कार भी सिखाये जाते है, जिसमें रामनारायण सिंह ,लवकुश, अमर सिंह खण्ड संघ चालक शिवगढ, रामेश्वर सिंह बौद्धिक शिक्षण प्रमुख, जगमोहन खण्ड संघ चालक महाराजगांज, दिनेश कुमार अवस्थी प्रधानाचार्य, अतुल कुमार पांडेय,लवलेश शुक्ला संच प्रमुख शिवगढ आदि लोग मौजूद रहे। 

अयोध्या में भारतीय किसान यूनियन ने तहसील प्रांगण में पंचायत कर किसानों की विभिन्न समस्याओं को लेकर सौंपा ज्ञापन

कथा मनोरंजन के लिए नही, मनोमंथन के लिए है: दिनेशाचार्य जी महाराज

कथा मनोरंजन के लिए नही, मनोमंथन के लिए है: दिनेशाचार्य जी महाराज

भगवान देखते हैं भक्तों का ह्रदय: दिनेशाचार्य जी महाराज

अयोध्या। बीकापुर क्षेत्र के खौंपुर-कोदैला में आयोजित सप्तदिवसीय श्रीमद्भागवत कथा का सप्तम पुष्प विसर्जित करते हुए कथाव्यास महंत दिनेशाचार्य जी महाराज ने बताया कि कथा केवल मनोरंजन के लिए नहीं अपितु मनोमंथनके के लिए है ।हृदय को द्रवित और नेत्रों को सजल करने के लिए हैं l

प्रभु की कथा श्रवण कर यदि आपका ह्रदय द्रवित नहीं हुआ, नेत्र सजल नहीं हुए, प्रभु के प्रति आपका प्रेम दृढ़ नहीं हुआ तो समझिए आपने कथा सुनी ही नहींl निर्धन होना अपराध नहीं किंतु निर्धनता में ईश्वर को भूलना अपराध हैl

सुदामा जी निर्धन थे केवल इसलिए भगवान ने उनकी सेवा नहीं की बल्कि निर्धन होते हुए भी हृदय में भगवान के प्रति भक्ति, प्रेम था जिसके चलते भगवान श्री कृष्ण ने सुदामा जी का सम्मान किया क्योंकि भगवान किसी के धन वैभव और पद को नहीं देखते भगवान तो भक्तों का हृदय ही देखते हैं जिसका हृदय निर्मल होता है वह भगवान की कृपा प्राप्त करता है।

व्यास महाराज ने बताया कि सुदामा जी प्रारब्ध के चलते निर्धन जरूर थे लेकिन एक ब्राह्मण का जो सबसे बड़ा धन है ज्ञान उससे सुदामा जी परिपूर्ण थे सुदामा जी के लिए शब्द आया है ब्रह्मवित्तमः सुदामा जी ज्ञानी थेl

ज्ञान का फल केवल पैसा कमाना नहीं सच्चा ज्ञानी वह है जो ईश्वर के प्रति अनुराग रखता हैl

ब्राह्मण का धन केवल भिक्षा नहीं, वास्तव में" बाभन को धन उत्तम शिक्षा" हैl कथा को विराम देते हुए कथाव्यासजी ने बताया की भागवत की कथा से परीक्षित महाराज का मोक्ष को देख कर ब्रह्मा जी को आश्चर्य हुआ मुक्ति देने वाले सभी शास्त्रों का ब्रह्मा जी ने तुलनात्मक अध्ययन किया और निर्णय किया कि श्रीमद्भागवत मुक्तिशास्त्र है।

मुख्य यजमान उमाशंकर तिवारी, प्रधान कृष्णानंद दुबे, संदीप तिवारी, मनोज तिवारी, अरुण सिंह, विजय शंकर, कृष्ण कुमार,राम नारायण तिवारी एडवोकेट, बृजभूषण, चंद्र भूषण आदि गणमान्य लोग उपस्थित रहेl

Share this story