×

UP News: शीत लहर और ठंड का प्रकोप, जनवरी में सर्दी ने नए रिकॉर्ड बनाया

winter vacation

UP News: उत्तर प्रदेश के आगरा जिले में शीत लहर और ठंड का प्रकोप बढ़ता ही जा रहा है। इस सर्दी में जनता को बचाव के लिए कदम उठाए जा रहे हैं। न्यूनतम तापमान ने नए रिकॉर्ड को छूने का मौका दिया है, जिससे लोगों को ठंड से निपटने के लिए नई रणनीतियाँ अपनानी पड़ रही हैं।

आरंभिक परिचय: बृहस्पतिवार को मौसम की सबसे सर्द रात रही, जिसके चलते न्यूनतम तापमान निम्नतम स्तर 3.9 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। पिछले 24 घंटों में न्यूनतम तापमान में 0.8 डिग्री की और गिरावट दर्ज की गई।

बंद विद्यालयों का आदेश: मौसम विभाग के मुताबिक, जिलाधिकारी ने देखते हुए सर्दी को और बढ़ावा देते हुए 20 जनवरी तक यूपी बोर्ड, सीबीएसई बोर्ड समेत अन्य बोर्ड के 5वीं कक्षा तक के विद्यालय बंद रखने के आदेश दिए हैं। इसके साथ ही, 12वीं तक के छात्रों को भी बड़ी राहत दी गई है। जिलाधिकारी ने भानूचंद्र गोस्वामी पहले से पांचवी तक के सभी स्कूलों का अवकाश 20 जनवरी तक बढ़ा दिया है। 15 जनवरी को मकर संक्रांति का अवकाश होने के कारण 12वीं तक के विद्यालयों का अवकाश रहेगा। इसके बाद, 12वीं तक की छात्रों को राहत देते हुए, 16 जनवरी से कक्षा 6 और इससे ऊपर के विद्यालय दोपहर 11:00 से 3:30 तक संचालित किए जाने के निर्देश दिए हैं।

नए रिकॉर्ड में सर्दी का महसूस: बता दें कि जनवरी में सर्दी ने नए रिकॉर्ड कायम किए हैं। दिसंबर के अंतिम सप्ताह से ठंड का आगाज हुआ और नए साल पर जनवरी माह में सर्द मौसम ने लोगों को कंपकंपी छुड़ा दी। न्यूनतम के साथ अधिकतम तापमान भी न्यूनतम स्तर तक पहुंचा। बुधवार रात के 4.7 डिग्री के न्यूनतम तापमान के बाद बृहस्पतिवार रात को गत रात का रिकॉर्ड भी टूट गया। न्यूनतम तापमान 3.9 डिग्री रह गया। इससे पहले 2 जनवरी को न्यूनतम तापमान 5.7 डिग्री के निचले स्तर पर पहुंचा था। रजाई के अंदर भी लोग सर्दी महसूस कर रहे थे। फुटपाथ पर रात गुजारने वालों ने अलाव का सहारा लिया तो घरों में ब्लोअर और रूम हीटर ने कमरे के तापमान को सामान्य करने में मदद की।

https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-2953008738960898" crossorigin="anonymous">

आगरा में इस अत्यधिक ठंड में जनता को सुरक्षित रखने के लिए स्थानीय अधिकारियों द्वारा कदम उठाए जा रहे हैं, जिससे स्कूलों के बंद होने का निर्णय लिया गया है। लोग नए रिकॉर्ड में सर्दी का सामना कर रहे हैं, जिसे देखते हुए अधिकारी ने सुरक्षा के लिए आवश्यक कदम उठाए हैं।

Share this story