×

Varanasi News: सावन के अंतिम दिन श्रीकाशी विश्वनाथ का हुआ झूला श्रृंगार, दर्शन कर भक्त हुए निहाल

Varanasi News: सावन के अंतिम दिन श्रीकाशी विश्वनाथ का हुआ झूला श्रृंगार, दर्शन कर भक्त हुए निहाल

Varanasi News: महादेव की नगरी में हर दिन उत्सव का दिन है। सभी उत्सव महादेव पर शुरू और महादेव पर खत्म हैं। ऐसे में महादेव के अतिप्रिय माह सावन का क्या ही कहना। सावन के अंतिम दिन एक बार फिर पूर्व महंत आवास पर उत्सव का माहौल दिखा।

मौका था सावन के अंतिम पंचबदन रजत प्रतिमा की पालकी यात्रा और उसके बाद बाबा के झूला श्रृंगार का, महंत आवास से गाजे-बाजे और शहनाई की धुन पर रजत पालकी पर प्रतिमा महादेव के गर्भगृह में पहुंची तो वहां विधि विधान से झूला श्रृंगार किया गया और उसके बाद परंपरा के अनुसार महादेव का झूला झुलाया गया।

Varanasi News: सावन के अंतिम दिन श्रीकाशी विश्वनाथ का हुआ झूला श्रृंगार, दर्शन कर भक्त हुए निहाल


महंत आवास से उठी पंचबदन रजत प्रतिमा


महादेव की नगरी काशी में सावन के अंतिम दिन भक्तों का समहू टेढ़ी नीम स्थित पूर्व महंत डॉ कुलपति तिवारी के आवास पर इकठ्ठा हुआ जहां से विधि-विधान से शुभ मुहूर्त में महादेव की पंचबदन रजत प्रतिमा श्रीकाशी विश्वनाथ धाम के लिए प्रस्थान की।

पूरा इलाका इस दौरान हर हर महादेव के जयघोष से गूंज उठा। रजत प्रतिमा के विश्वनाथ धाम पहुंचने पर पुष्प वर्षा से स्वागत हुआ। डमरू और शहनाई वादन के बीच बाबा की प्रतिमा श्रृंगार भोग आरती के समय गर्भ गृह पहुंची थी।

Varanasi News: सावन के अंतिम दिन श्रीकाशी विश्वनाथ का हुआ झूला श्रृंगार, दर्शन कर भक्त हुए निहाल

उतारी गयी आरती, झुलाया गया झूला


महादेव की प्रतिमा का स्वागत करने के बाद उन्हें मंत्रोच्चार के बाद गर्भगृह में स्थापित किया गया। प्रतिमा की स्थापना के बाद गर्भ गृह के अर्चक पंडित टेकनारायण उपध्याय और महंत परिवार के पुजारियों ने महादेव की भव्य आरती उतारी।

इस दौरान सैंकड़ों भक्त गर्भगृह के बाहर बाबा की इस भव्य आरती को देखते रहे और अभिभूत हुए। इसके बाद महादेव को झूले पर स्थपति कर उन्हें झूला झुलाया गया, जिसे देख भक्त निहाल हुए।

Share this story