×

Varanasi News : थाना कैण्ट पुलिस टीम की तत्परता से महज 4 घण्टे मे खोया एक लाख रुपया एवं जरूरी कागजात बैग समेत बरामद

hhhh

 

Varanasi News : थाना कैण्ट पुलिस टीम की तत्परता से महज 4 घण्टे मे खोया एक लाख रुपया एवं जरूरी कागजात बैग समेत बरामद

पेशे से अकाउंटेंट का काम करने वाले शिवपुर वाराणसी निवासी रितेश पाण्डेय पुत्र दुर्गा शंकर पाण्डेय आज सुबह अपने घर से ऑटो रिक्शा से कचहरी स्थित भारतीय स्टेट बैंक की एटीएम मशीन से खाते में पैसा जमा करने हेतू ₹1 लाख रुपये लेकर निकले थे।

कचहरी पहुंचने के बाद रितेश टेम्पो चालक को किराया देकर आगे बढ़ गए बैंक पहुंचने पर रितेश को जानकारी हुई कि उनका बैग ऑटो रिक्शा में ही छूट गया है जिसके बाद घबराए रितेश टेम्पो चालक की तलाश में कैण्ट स्टेशन पहुंच गए काफी खोजबीन करने के बाद भी जब टेम्पो चालक का कुछ पता नहीं चला तो रितेश ने वापस कचहरी पुलिस चौकी पहुंचकर पुलिस को घटना के संबंध में बताया।

सूचना पर थाना कैण्ट पुलिस टीम ने तत्परता दिखाते हुए कमांड सेंटर के सीसीटीवी फुटेज की सहायता से टेम्पो के नंबर की जानकारी की और पंजीकृत वाहन स्वामी मनोज के रामनगर स्थित घर पहुंची जहां मनोज ने बताया की उसने अपना टेम्पो मिर्जामुराद की रहने वाली बेबी नामक महिला को बेच दिया है।

https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-2953008738960898" crossorigin="anonymous">

जिसके बाद टीम मिर्जामुराद स्थित बेबी नामक महिला के घर पहुंची वहाँ पहुंचने पर बेबी ने बताया की उसने अपना टेम्पो मिर्जामुराद के ही रहने वाले अजय पटेल नामक व्यक्ति को बेच दिया है।

अजय पटेल के घर पहुंचने के बाद अजय पटेल ने बताया की उसका टेम्पो अल्ताफ नामक चालक चलाता है जिसके बाद पुलिस अल्ताफ तक पहुंची पूछताछ में अल्ताफ ने बताया की उसके टेम्पो में एक बैग छूट गया था।

जिसकी जानकारी उस रोडवेज पहुंचने पर हुई और उसने बैग को रोडवेज पुलिस चौकी को सुपुर्द कर दिया तत्पश्चात चौकी प्रभारी कचहरी उ.नि. सौरभ पाण्डेय एवं क्राइम टीम के आरक्षी अंकित मिश्र ने रोडवेज पुलिस चौकी पहुंच बैग को कब्जे में लेकर पीड़ित रितेश पाण्डेय को सुपुर्द किया चार घंटे की कड़ी मेहनत के बाद पुलिस टीम द्वारा पीड़ित को बैग वापस करते ही उसकी आंखों से खुशी के आंसू छलक पड़े बैग में रखें ₹1 लाख वापस पाते ही रितेश ने वाराणसी कमिशनरेट पुलिस को बारम्बार धन्यवाद दिया।

Share this story