×

Varanasi News: केंद्रीय सरकार दवारा लागू एमएसएमई अभी भी समझ के बाहर है जिसमे छोटे करोबारी इस नियम में आते हैं

dfg

Varanasi News: केंद्रीय सरकार दवारा लागू एमएसएमई अभी भी समझ के बाहर है जिसमे छोटे करोबारी इस नियम में आते हैं

केंद्रीय सरकार दवारा लागू एमएसएमई अभी भी समझ के बाहर है जिसमे छोटे करोबारी इस नियम में आते हैं और बड़े करोबारी इस कानून से बाहर हैं अर्थात 50 करोड़ तक के करोबारी बाहर है


उक्त विचार बनारसी वस्त्र उद्योग एसोसिएसन के एमएसएमई के सेमिनार मे उपाध्यक्ष राजन बहल ने अपने सम्बोधन में कहा कि उक्त नियम जब लागू किया है तो 50 करोड़ से अधिक करोबारी के ऊपर भी लागू होना चाहिए ।


उक्त संबंध परिचर्चा मे प्रमुख वक्ता जे.डी दुबे सीए ने सदास्यो को नियम की बारिकियो को समझाते हुआ बताया की जो भी उत्पादक कर्ता है उसको एमएसएमई में रजिस्ट्रङ होना अनिवार्य है अगर कोई भी उद्‌पादक कर्ता अथवा एमएसएमई में रजिस्टर्ड व्यापारी का भुगतान 45 दिनों में नहीं करता है तो उक्त बकाया ग्राहक को आयकर विवरणी मे जोड़ दिया जाएगा।

जगमोहन विशम्भरी सीए ने अपने सम्बोधन में एमएसएमई की बारिकियो को समझाते हुआ बताया की यह हम सभी के लिए नियम लाभकारी है जिसमे शमिल होने से व्यवपारियो को भुगतान 45 दिनो में मिलने से व्यवपारियो को अपना कारोबार बढ़ाने का अवसर प्राप्त होगा संघ के संरक्षक अशोक धवन ने कहा कि साड़ी व्यापार में भुगतान की स्थिती बहुत ख़राब है इस नियम से हमारे व्यापार में भुगतान की स्थिती में सुधार होगा अभी तक करोबार में भुगतान की स्थिती 3 माह से शुरू होकर 6 माह होता है जिसमे निश्चित ही हमारे व्यापारियो को असुविधा होती है इसमें भी सुधार होगा।

https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-2953008738960898" crossorigin="anonymous">

hrtfgb


संरक्षक मुकुंद लाल टुंडन ने कहा की इस नियम का हमारे उधोग पर जो प्रतिकुल असर होगा कि हमारा व्यापारी फरवरी या मार्च में हमारा बचा माल वापस भेज देगा और बाकी भुगतान भेज कर हिसाब चुकता कर देगा इस पर भी इस नियम में संसोधन कर के माल वापसी पर भी कोई नियम बनाना चाहिए।

सभा संचालक महामन्त्री देवेन्द्र मोहन पाठक ने कहा बड़ी विकट स्थिती है की फरवरी शुरू होते ही हमारे व्यापारियो का माल वापस आना शुरू हो गया है मेरी सूचना के अनुसार 500 बंडल माल वापस आ चुका है और अभी फरवरी और मार्च में क्या होगा यह भगवान ही जानता है अतिसिग्रा हम इस मुद्ले पर कोइ ढोस निर्णय लेगे कि माल वापसी पर भी अंकुश लगाय जा सके।


अध्यक्ष घनश्याम दास गुजराती ने सभी का स्वागत किया धन्यवाद प्रकाश संयोजक कोषाध्यक्ष पंकज शाह ने किया।
सभा में सर्वश्री प्रवीण गोयल गुरुप्रीत रूपाणी संजय शाह लड्डू विजय कपूर राकेश वशिष्ठ सचिन रेटेरिया शैलेन्द्र रस्तोगी सहित सैकडो व्यापारी उपस्थित थे।

Share this story