×

Varanasi News: जगद्गुरू रामानन्दाचार्य जी का 724 वाँ प्राकट्य महोत्सव व श्रीराम कथा 25 से महोत्सव में भाग लेंगे प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

sxaxd

Varanasi News: जगद्गुरू रामानन्दाचार्य जी का 724 वाँ प्राकट्य महोत्सव व श्रीराम कथा 25 से महोत्सव में भाग लेंगे प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

कलिपावनावतार श्रीमद् जगद्गुरू रामानन्दाचार्य जी महाराज का 724 वाँ प्राकट्य महोत्सव व नवदिवसीय श्रीराम कथा का भव्य आयोजन 25 जनवरी से 2 फरवरी 2024 तक श्रीराम मन्दिर गुरुधाम में किया गया है। इस महोत्सव के मुख्य अतिथि प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ होंगे।

'यह जानकारी श्रीमद जगदगुरु अनंतानंद द्वाराचार्य काशीपीठाधीश्वर स्वामी डॉ. श्री रामानंद विश्वहितकारिणी परिषद के संस्थापक और कथा व्यास ने दी। रामकमलदास वेदांती जी महाराज ने आज दोपहर गुरुधाम स्थित श्री राम मंदिर में प्रतिनिधियों को पत्र दिया।

पूज्य स्वामी वेदान्ती जी ने बताया कि 14 वीं सदी में अवतरित हुए श्रीमद् जगद्गुरू रामानन्दाचार्य जी महाराज ने तत्कालीन जीर्ण-शीर्ण हो रहे हिन्दू धर्म और बिखरते व टूटते आर्यावर्त भारत को संभालने के लिए जो अविस्मरणीय कार्य किए थे ओज उन्हीं का परिणाम है कि हमारा देश भारत जगद्‌गुरू रामानन्दाचार्य जी के परमाराध्य प्रभु श्रीराम लला की प्राण प्रतिष्ठा श्रीरामजन्म भूमि अयोध्या में स्थापित कर पुनः तरूणाई की उमंग भर रहा है। सनातन धर्म को चलाने का एकमात्र उपाय हिन्दुओं के अंदर से ऊँच-नीच, छुआ-छूत व भेद-भाव रहित समाज का निर्माण करना ही है। इस कार्य की शुरूआत श्रीमद् जगद्गुरू रामानन्दाचार्य जी ने सभी जातियों के 'लोगों को अपना शिष्य बनाकर किया था।

उन्होंने श्री रविदास, कबीरसाहब, धन्ना जाट, सैन्य नाई, पीपा भगत आदि को शिष्य बनाकर रामभक्ति के माध्यम से समरसता का विस्तार किया था। भेद-भाव रहित हिन्दू समाज में समरसता की स्थापना जगद्‌गुरू रामानन्दाचार्य जी के सिद्धान्तों को अपनाने से ही संभव है। जगद्गुरू रामानन्दाचार्य जी का प्रादुर्भाव तीर्थराज प्रयाग में विक्रमसंवत 1300 माघ कृष्ण सप्तमी को हुआ था किन्तु उन्होंने वाराणसी से ही रामभक्ति का विस्तार सम्पूर्ण विश्व में किया अतः वाराणसी में आचार्य जी जयंती बड़े धूम-धाम के साथ रामानन्दाचार्य जी के प्रथम शिष्य अनन्तानन्दाचार्य जी द्वारा स्थापित श्रीराम मन्दिर में दिनांक 25 जनवरी से 02 फरवरी 2024 तक अपराह्न 3 बजे से सायं 7 बजे तक मनाई जा रही है।

https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-2953008738960898" crossorigin="anonymous">

जिसमें जगद्गुरू रामानन्दाचार्य जी के परमाराध्य भगवान राम की कथा का गायन अनन्तानन्दाचार्य पद प्रतिष्ठित स्वामी डॉ. रामकमलदास वेदान्ती जी महाराज करेंगे। जिसमें अमेरिका सहित कई देशों के भक्तगण एवं अयोध्या, मथुरा, काशी, चित्रकूट आदि के विभिन्न विद्वान व तपस्वीं संतों का भी पदार्पण हो रहा है।

इस नवदिवसीय जयंती महोत्सव में संस्कृत छात्रों की कई प्रतियोगितायें एवं सांस्कृति कार्यक्रमों के साथ-साथ विद्वत संगोष्ठी, कवि सम्मेलन, संत सम्मेलन व काशी की उभरती प्रतिभाओ के प्रोत्साहन हेतु उन्हें सम्मानित करने का भी कार्यक्रम रखा गया है। कार्यक्रम में विशेष रूप में प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री आदित्यनाथ योगी जी महाराज सहित अन्यान्य राजनैतिक हस्तियों का भी समागमन होगा। अतः सभी लोगों को इस कार्यक्रम में सम्मिलित होने हेतु सादर आमंत्रित किया गया है।

Share this story