×

Varanasi News: चुनावी बाण्ड बन्द करने के माननीय उच्चतम न्यायालय के निर्णय को जनहित, संविधान एवं कानून के संरक्षण सहित भ्रष्ट राजनीति पर कड़ा प्रहार

Varanasi News: चुनावी बाण्ड बन्द करने के माननीय उच्चतम न्यायालय के निर्णय को जनहित, संविधान एवं कानून के संरक्षण सहित भ्रष्ट राजनीति पर कड़ा प्रहार

Varanasi News: चुनावी बाण्ड बन्द करने के माननीय उच्चतम न्यायालय के निर्णय को जनहित, संविधान एवं कानून के संरक्षण सहित भ्रष्ट राजनीति पर कड़ा प्रहार

राष्ट्रीय समाजवादी जनक्रांति पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एस०एल० ठाकुर पूर्व निश्चित कार्यक्रमानुसार माननीय उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश के सम्मान में एवं मुख्य न्यायाधीश के नाम संबोधित ज्ञापन मार्फत जिलाधिकारी वाराणसी को देने जाने हेतु बाबा डॉ० भीमराव अम्बेडकर पार्क से जुलूस निकालने के पूर्व आम जनों को सम्बोधित करते हुए कहा कि चुनावी बॉण्ड प्रकरण की जाँच माननीय उच्चतम न्यायालय द्वारा न्यायिक आयोग बनाकर करायी जाय तथा दोषी पाये जाने पर कठोर सजा दी जाय।


 चुनावी बॉण्ड के अन्तर्गत गलत स्रोतों से प्राप्त धनराशि से अगर चुनाव हुआ  तो केन्द्र या राज्य की सरकारों को बर्खास्त करने की संस्तुति माननीय न्यायालय द्वारा राष्ट्रीय समाजवादी जनक्रान्ति पार्टी के माँगों के आधार पर माननीया राष्ट्रपति से की जाय।

Varanasi News: चुनावी बाण्ड बन्द करने के माननीय उच्चतम न्यायालय के निर्णय को जनहित, संविधान एवं कानून के संरक्षण सहित भ्रष्ट राजनीति पर कड़ा प्रहार

जिससे कि संविधान, कानून की रक्षा हो तथा भ्रष्टाचार पर नियन्त्रण हो। ठाकुर  ने कहा कि माननीय उच्चतम न्यायालय द्वारा निचली अदालतों में चल रहे फर्जी मुकदमों की जाँच हेतु उच्च न्यायालयों के स्तर पर न्यायिक आयोग बनाकर उसकी जाँच कराते हुए दोषियों पर कठोर कार्यवाही की जाय। जिससे हजारो हजार निरीह लोगों को राहत मिल सके। इन विषयों पर किसी राजनैतिक पार्टी द्वारा आवाज न उठाना भ्रष्ट राजनैतिक व्यवस्था को मजबूती देता है जो कि जनहित में सही नहीं है।

उक्त बाते  जिला मुख्यालय पर उपस्थित राकेश चन्द्र पाण्डेय (राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राष्ट्रीय समाजवादी जनक्रान्ति पार्टी), पारसनाथ केशरी (संसदीय प्रभारी वाराणसी क्षेत्र), संजय कुमार शुक्ल (राष्ट्रीय सचिव), सहित इन्द्रसेन सिंह, राजेश केशरी, रमाकान्त त्रिपाठी, दिलीप सिंह, अशोक त्रिपाठी, साहब लाल पटेल,आदि लोग के बीच कही गयी।

https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-2953008738960898" crossorigin="anonymous">

Share this story