×

Varanasi News: एचडीएफसी बैंक ने अपनी 27वीं शाखा का उपाध्यक्ष वाराणसी विकास प्राधिकरण पुलकित गर्ग आईएएस के कर कमलों से किया शुभारंभ

Varanasi News: एचडीएफसी बैंक ने अपनी 27वीं  शाखा का उपाध्यक्ष वाराणसी विकास प्राधिकरण पुलकित गर्ग आईएएस के कर कमलों से किया शुभारंभ

Varanasi News: एचडीएफसी बैंक ने अपनी 27वीं  शाखा का उपाध्यक्ष वाराणसी विकास प्राधिकरण पुलकित गर्ग आईएएस के कर कमलों से किया शुभारंभ

दिनांक 4 मार्च 2024 को वाराणसी जनपद में एचडीएफसी बैंक की 27वीं शाखा का शुभारंभ मछोदरी-विशेश्वरगंज में माननीय  पुलकित गर्ग आईएएस उपाध्यक्ष वाराणसी विकास प्राधिकरण ने दीप प्रज्वलन से किया। 

इस शुभ अवसर पर उपाध्यक्ष ने बैंक के शीर्ष नेतृत्व, उनके दूरदर्शिता और देश व्यापी वृहद विस्तार और आमजन तक पहुंचने के प्रयास और बैंकिंग की विश्वस्तरीय सुविधाओं के लिए सराहा साथ ही ग्राहक के प्रति वचनबद्धता और सेवाओं के लिए समर्पित हमारे बैंक कर्मियों की प्रशंसा की और सुनहरे भविष्य के लिए शुभकामनाएं व्यक्त की।

Varanasi News: एचडीएफसी बैंक ने अपनी 27वीं  शाखा का उपाध्यक्ष वाराणसी विकास प्राधिकरण पुलकित गर्ग आईएएस के कर कमलों से किया शुभारंभ

मुख्य अतिथि और विशिष्ट अतिथियों का स्वागत, एचडीएफसी बैंक के जोनल हेड  मनीष टंडन ने किया और स्वागत संबोधन में बताया की हमारा बैंक की शाखाएं शहर के हर प्रमुख केंद्रों पर हैं, और काशीवासियों तक अपनी बैंकिंग सेवा को पहुंचाने के क्रम में हमनें अपनी 27वीं शाखा का शुभारंभ किया है, वाराणसी के सबसे पुरातन मंडियों में से एक मछोदरी में हमारी ये शाखा निश्चित रूप से हमारे व्यव्यसायी बंधुओं को सहूलियत और श्रेष्ठ बैंकिंग सेवा प्रदान करेगी।

https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-2953008738960898" crossorigin="anonymous">

उक्त अवसर पर इंडियन इंस्ट्रीस एसोसिएशन के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष आर के चौधरी, प्रमुख उद्दमी  दीपक बजाज , विशिष्टगण  शरद शर्मा ,  श्यामसुंदर अग्रवाल ,  रतन सिंह ,  प्रदीप कुमार , संग मंडी क्षेत्रवासी उपस्थित थे।  बैंक से क्लस्टर हेड  रोहित खन्ना, क्लस्टर हेड  दीपक झा, क्लस्टर हेड  कृष्णा मिश्रा, क्लस्टर हेड  शरीक हसन, क्लस्टर हेड  बालमुकुंद जी, एवम अन्य बैंक कर्मी उपस्थित रहे।

शाखा प्रमुख  रोहित राय ने सभी गणमान्य जनों और मीडिया बंधुओं का स्वागत सत्कार किया।

Share this story