×

Varanasi News: MRF टायर का डीलरशिप की फ्रेंचाइज़ी दिलाने के नाम 12 लाख का धोखाधड़ी करने वाला सरगना गिरफ्तार

dd

 

 

Varanasi News: आवेदक अबुजर अहमद का प्रार्थना पत्र थाना हाजा प्राप्त हुआ था जिसमें MRF टायर डीलरशिप की फ्रेंचाइज़ी दिलाने के नाम पर फ़र्जी वेबसाइट www.mrftyredealership.in व www.mrflyredealshipapply.in के माध्यम से वादी मुकदमा को अपने झांसे में लेकर रजिस्ट्रेशन फीस, सिक्योरिटी फीस, अप्रूवल फीस इत्यादि के नाम पर कुल करीब 12 लाख की धोखाधड़ी की गयी थी, जिसपर थाना स्थानीय पर मु.अ.सं. -005/2023 धारा 417, 420 भा. द. वि. व 66 आई.टी. एक्ट में दर्ज किया गया था।

उक्त प्रकरण के दृष्टिगत पुलिस आयुक्त कमिश्ररेट वाराणसी मुथा अशोक जैन व पुलिस उपायुक्त (अपराध)  चन्द्रकान्त मीना तथा अपर पुलिस उपायुक्त (अपराध)  टी. सरवणन व सहायक पुलिस आयुक्त (अपराध)  गौरव कुमार द्वारा उक्त मुकदमे मे प्रभावी कार्यवाही तथा निस्तारण हेतु निर्देशित किया गया जिसके उपरान्त प्रभारी निरीक्षक साइबर क्राइम थाना  विजय नारायण मिश्र की अगुवाई में साइबर क्राइम थाना वाराणसी टीम द्वारा इस मुकदमे में प्रयुक्त वेबसाइट, बैंक खाते, डोमेन ईमेल इत्यादि की जाँच के उपरांत प्रकाश में आये 03 अभियुक्तगण को मोहब्बतपुर, शेखपुरा, बिहार से गिरफ्तार कर नियमानुसार कार्यवाही की जा रही है।

अपराध करने का तरीका

मुकदमा उपरोक्त की घटना के संबन्ध में पूछने पर तीनों ने बताया कि हम तीनो ने अवैध धन कमाने के लिए योजना बनाकर षड्यंत्र पूर्वक एम, आर, एफ टायर  डीलरशिप के नाम से फर्जी वेबसाइट बनवाकर व फ्रेंचाइजी अप्रूवल हेतु फर्जी एम, आर, एफ के नाम फार्म में कूट रचना कर व गलत डिजिटल हस्ताक्षर बनाकर साइबर अपराध करते हैजा रही है।

https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-2953008738960898" crossorigin="anonymous">

जिसमे हम लोगो द्वारा फर्जी / म्यूल बैंक खातों व फर्जी / दूसरे के नाम-पता पर सिमकार्ड का प्रयोग जाता है। साइबर अपराधी गुलशन कुमार पूछने पर बता रहा है कि पटना व शेखपुरा के विभिन्न स्थानों पर रहकर लेपटाप व मोबाइल के माध्यम से अपने साथियों के साथ मिलकर साइबर अपराध को अंजाम देते है, इसके लिए फर्जी वेवसाइट भी बनवाया था जो एम. आर. एफ कंपनी के टायर का फ्रेंचाइजी के संबन्ध में था जिसका संचालन मेरे द्वारा किया जाता था, जिसमें मैने अपना फर्जी नंबर दे दिया था।

जिस किसी को एम. आर. एफ कंपनी के टायर का फ्रेंचाइजी लेना होता था, गुगल पर सर्च करता था तो मेरा वेवसाइट व नंबर शो करने लगता था, जिसमें डिटेल भरवाया जाता था, डिटेल मिलने के बाद मेरे द्वारा फोन किया जाता है, उनको बातों बातों में उलझाकर पहले रजिस्ट्रेशन, अप्रुवल फीस, सेक्यूटिटी फीस आदि के नाम पर पैसा विभिन्न खातों में मंगा लेते थे, फिर टायर भेजने के नाम पर बड़ी धनराशि खाते में मंगाते थे और आपस में बांट लेते थे ।

मेरे साथी कुंदन कुमार द्वारा जिन खातों में पैसा आता था, उन खातों में इंटरनेट बैंकिंग, मोबाइल बैकिंग चलाता था तथा पैसा की निकासी का कार्य करता था। जबकि विपिन सिंह उपरोक्त द्वारा घटना में प्रयुक्त बैंक खातों तथा मोबाइल सिम कार्ड का प्रबंधन का कार्य किया जाता है और इस तरह से हमलोग योजनाबद्ध तरीक के मिलकर साइबर अपराध को अंजाम देते है।

गिरफ्तार अभियुक्तगण का विवरण


1- गुलशन कुमार पुत्र विनोद कुमार सिंह निवासी-ग्राम-मोहब्बतपुर थाना-शेखोपुर सराय, जनपद-शेखपुरा, बिहार उम्र करीब- 23 वर्ष।

2- विपिन सिंह पुत्र स्व. दिनेश प्रसाद सिंह निवासी ग्राम-मोहब्बतपुर, थाना शेखोपुर सराय, जनपद-शेखपुरा, बिहार उम्र करीब 55 वर्ष।

3- कुन्दन कुमार पुत्र मानिक राम निवासी ग्रा. मोहब्बतपुर, थाना- शेखोपुर सराय, शेखपुरा जनपद, बिहार उम्र करीब 26 वर्ष।

गिरफ्तारी का स्थान

मोहब्बतपुर शेखपुरा बिहार ।

आपराधिक इतिहास 

1-मैसर्स 0071/2021 U/S-406,420,467,468,471,120B/34 IPC थाना शेखोपुर सराय जिला बिहार कुंदन कुमार।

2-मु.अ.सं.0005/2023 धारा 417,420,467,468,471,120B PC व 66,66C,66D,74 IT Act साइबर क्राइम पुलिस थाना वाराणसी।

बरामदगी का विवरण

एण्ड्रायड मोबाइल 14 ए० टी०एम० कार्ड 02 लैपटाप 01 एम आर एफ टायर डीलरशिप से सबन्धित फर्जी कागजात मुकदमा उपरोक्त में प्रयुक्त।

पुलिस टीम का विवरण

विजय नारायण मिश्र प्रभारी निरीक्षक उ.नि. नीलम सिंह हे.का. आलोक कुमार सिंह हे0.का. प्रभात कुमार द्विवेदी हे.का. राजेन्द्र कुमार पाण्डेय का. चन्द्रशेखर यादव का. पृथ्वीराज सिंह का. अवनीश सिंह का. दिलीप कुमार का. मनीष कुमार सिंह का. सूर्यभान सिंह।


 

Share this story