×

Varanasi News: वाराणसी में ठंड का कहर, भीषण सर्दी ने तोड़ा नौ साल का रिकॉर्ड, कुछ दिन और नहीं मिलेगी ठंड से राहत

ganga

Varanasi News: काशी में लगातार तीन दिनों से पड़ रही कड़ाके की ठंड ने लोगों को कंपा दिया है। सोमवार की सुबह कोहरे के साथ हुई। दिन चढ़ने के साथ ही कोहरा छंटता गया, लेकिन गलन बरकरार रही। भीषण ठंड के बीच मकर संक्रांति के मौके पर श्रद्धालु भोर से ही गंगा घाट पर स्नान को पहुंचे। लोगों ने आस्था की डुबकी लगाई और दान-पुण्य किया। मौसम खराब होने के चलते सड़क पर वाहनों की बत्ती जलाकर जाते लोग दिखे। मौसम वैज्ञानिक के अनुसार सप्ताह के आखिरी से ठंड से थोड़ी राहत मिल सकती है। 


बता दें कि शहरी और ग्रामीण इलाकों में रविवार को भी पूरे दिन धूप ठंड का कहर जारी रहा। शाम को गलन ने लोगों को और कंपा दिया। नौ साल बाद 14 जनवरी को सबसे कम अधिकतम तापमान दर्ज किया गया। इससे पहले 2015 में अधिकतम तापमान 15.8 दर्ज किया गया था। रविवार को इस सीजन का सबसे कम अधिकतम तापमान 13.7 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। 

पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने के कारण पछुआ हवा में नमी बढ़ गई है। दिन में भले ही धूप हो रही है, लेकिन लोगों को ठंड से राहत नहीं मिल पा रही है। ऐसे में सोमवार कोरामनगर, कज्जाकपुरा, आदमपुर, शिवपुर, लहरतारा, सामनेघाट, भगवानपुर के साथ ही ग्रामीण इलाकों में आराजीलाइन, राजातालाब, रोहनिया, पिंडरा सहित ग्रामीण इलाकों में अन्य दिनों की तुलना में गलन भी अधिक रही। उधर, रविवार को अधिकतम 13.7 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। न्यूनतम तापमान 8.4 रहा। 

क्या कहते हैं मौसम विशेषज्ञ

बीएचयू के मौसम वैज्ञानिक प्रो. मनोज श्रीवास्तव का कहना है कि पश्चिमी विक्षोभ अभी तीन-चार दिन और सक्रिय रहेगा। इस सप्ताह गुरुवार-शुक्रवार से ठंड से थोड़ी राहत मिलने के आसार हैं।

पांच दिन में 10 डिग्री गिरा अधिकतम तापमान
पांच दिन में अधिकतम तापमान दस डिग्री सेल्सियस गिर गया है। जबकि न्यूनतम तापमान में भी चार डिग्री सेल्सियस की कमी दर्ज की गई। इसमें 10 जनवरी को अधिकतम तापमान 23.0 डिग्री सेल्सियस रहा जबकि 14 जनवरी को तापमान 13.7 रिकाॅर्ड किया गया। इसके अलावा 10 जनवरी का न्यूनतम तापमान 12.5 और 14 जनवरी को 8.4 डिग्री दर्ज किया गया।

https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-2953008738960898" crossorigin="anonymous">

हवाई मार्ग में बाधा, कई विमान डायवर्ट

एयरपोर्ट पर रविवार की सुबह दस बजे तक दृश्यता 50 मीटर होने के चलते दस उड़ानें निरस्त हो गईं। वहीं, छह उड़ानें एक से पांच घंटे विलंबित रहीं। इस दौरान कई विमान हवा में कई चक्कर लगाने के बाद दूसरे शहर के लिए डायवर्ट हुए। दोपहर में मौसम साफ हुआ तो उड़ानें दोबारा पहुंची। अकासा का बंगलूरू से आया विमान लखनऊ के लिए डायवर्ट कर दिया गया। उड़ानों की देरी के चलते यात्रियों ने हंगामा किया।

 

यह उड़ानें रहीं निरस्त
 

इंडिगो हैदराबाद की उड़ान 6ई 783, इंडिगो बंगलूरू का विमान 6ई 968, इंडिगो दिल्ली की उड़ान 6ई 2235, इंडिगो मुंबई की उड़ान 6ई 5127, इंडिगो अहमदाबाद की उड़ान, अकासा एयर मुंबई की उड़ान और अकासा बंगलूरू की उड़ान निरस्त रही। वहीं, विस्तारा दिल्ली का विमान यूके 673, स्पाइस जेट दिल्ली की उड़ान एसजी 2741 निरस्त, स्पाइस जेट दिल्ली की उड़ान एसजी 389 भी निरस्त रहीं।

Share this story