×

Varanasi News: उत्तर प्रदेश राजकीय होम्योपैथिक फार्मेसिस्ट सेवा संघ का द्विवार्षिक अधिवेशन माह फरवरी में लखनऊ स्थित गांधी भवन के प्रेक्षाग्रह में संपन्न हुआ

fbcb fgd

Varanasi News: उत्तर प्रदेश राजकीय होम्योपैथिक फार्मेसिस्ट सेवा संघ का द्विवार्षिक अधिवेशन माह फरवरी में लखनऊ स्थित गांधी भवन के प्रेक्षाग्रह में संपन्न हुआ

वाराणसी फार्मासिस्ट सेवा संघ द्वारा कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में डा.अरविंद कुमार वर्मा (निर्देशक होम्योपैथी उत्तर प्रदेश) विशिष्ट अतिथि रूप में डा.चेतना त्रिपाठी मुख्य चिकित्सा अधीक्षक लखनऊ मंडल डा बिमला रावत जिला होम्योपैथिक चिकित्सा अधिकारी लखनऊ विनय त्रिपाठी रजिस्टर होम्योपैथी मेडिसिन बोर्ड उत्तर प्रदेश सुरेश रावतअध्यक्ष राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद   सुनील यादव अध्यक्ष उत्तर प्रदेश फार्मेर्सिस्ट महासंघ अशोक कुमार महामंत्री फार्मेर्सिस्ट महासंघ इत्यादि अतिथि उपस्थित रहे।

gvb

कार्यक्रम का शुभारंभ होम्योपैथी के जनक डा.सैमुअल हैनीमैन के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलित के साथ प्रारंभ हुआ कर। होम्योपैथिक फार्मासिस्ट सेवा संघ के प्रांतीय अध्यक्ष हरि श्याम मिश्र एवं महासचिव शिव प्रसाद ने मुख्य अतिथि को माल्यार्पण एवं स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया तथा वरिष्ठ उपाध्यक्ष संतोष रावत व कोषाध्यक्ष पंकज सिंह ने पुष्प गुच्छ व अंगवस्त्रम देकर अतिथियों का स्वागत किया।

महासचिव शिव प्रसाद जी ने उत्तर प्रदेश के प्रत्येक जिलों होम्योपैथिक अधिवेशन में पधारे होम्योपैथिक फार्मासिस्टों की समस्याओं को निदेशक होम्योपैथी जी के सामने बिंदुवार रखी जिसमें प्रमुख रूप से एलोपैथिक व आयुर्वेदिक के भांति होम्योपैथिक विभाग में भी चीफ फार्मासिस्ट का पद सृजित हो एवं एवं एलोपैथिक की भांति प्रभार भत्ता होम्योपैथी को भी मिलनी चाहिए साथ ही जहां चिकित्सालय पर डॉक्टर.ना हो वहां फार्मासिस्टों को ओपीडी न कराएं जाने की बात को भी माननीय होम्योपैथी निदेशक महोदय के संज्ञान में रखी।

https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-2953008738960898" crossorigin="anonymous">

fgvh

जिस पर माननीय निदेशक महोदय ने अपने संबोधन में कहा कि चीफ फार्मासिस्ट पद के लिए मैं शासन स्तर पर लगा हुआ हूं और जल्द से जल्द आप सभी को खुशखबरी दूंगा और भी जो छोटी-मोटी समस्या है उसका भी जल्द से जल्द निराकरण करने की बात कही। इसी क्रम में उत्तर प्रदेश फार्मासिस्ट महासंघ के अध्यक्ष सुनील यादव जी ने अपने संबोधन भाषण में कहां की आप सभी को याद होगा जब कोरोना जैसी महामारी आई  उस समय फार्मासिस्टो ने स्वदेशी वैक्सीन बनाकर सिद्ध कर दिया।

और उसे वैक्सीन से लाखों करोड़ों लोगों की जिंदगियां बचाई जा सकी। सुनील जी ने बताया कि  फार्मेसी के लिए माननीय मुख्यमंत्री जी भी चाहे वह एलोपैथी हो होम्योपैथी हो आयुर्वेदिक हो सभी के लिए फार्मासिस्ट हब बनाने के बात को कही है और इस पर काम भी तेजी गति से विद्यमान है । इसी क्रम में फार्मासिस्ट महासंघ के प्रांतीय मंत्री अशोक कुमार ने भी कहा की फार्मासिस्ट को मजबूती प्रदान के लिए हम ने एक महासंघ का निर्माण किया है जिसमें एलोपैथिक आयुर्वेदिक होम्योपैथिक ।सभी विभागों के फार्मेसिस्ट बंधू शामिल है और हम सरकार को अपनी हर समस्याओं से अवगत कराते रहेंगे।

कार्यक्रम में प्रमुख रूप से शमशेर सिंह अवधेश सिंह अरविंद गुप्ता पंकज सिंह राजू बाबू  अनूप कुमार सिंह हरेंद्र सिंह यादव अमित कुमार सिंह मनीष सिंह राजेश कुमार हर्षवर्धन सिंह शिवाकांत चौरसिया राजेश कुमार यादव रमेश मिश्रा दीपक पाठक बेकारू यादव पूनम मौर्या सुमन कुमारी मौर्या संध्या शर्मा सहित लगभग हजारों की संख्या में फार्मासिस्ट भाई व बहने उपस्थित रहे।


साथ ही साथ नई कार्यकारिणी का गठन भी किया गया जिसमें राम अवध राम संरक्षक संतोष रावत अध्यक्ष हरेंद्र सिंह वरिष्ठ उपाध्यक्ष, अरविंद कुमार महासचिव पंकज कुमार सिंह कोषाध्यक्ष संप्रेक्षक आशीष कुमार यादव चुने गए।

रिपोर्टर विवेक कुमार यादव

Share this story