×

Varanasi News: बाल आयोग की सदस्या अनीता अग्रवाल ने जाना जनपद में बच्चो का हाल

ss

Varanasi News: बाल आयोग की सदस्या अनीता अग्रवाल ने जाना जनपद में बच्चो का हाल


आज दिनांक 17.01.2024 बुधवार को, प्रातः 10.00 बजे, माननीय सदस्य उत्तर प्रदेश राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग की सदस्य  अनीता अग्रवाल द्वारा जिला महिला चिकत्सालय,वाराणसी का निरीक्षण किया गया उनके साथ संरक्षण अधिकारी निरुपमा सिंह मौजूद रहीं। 


निरीक्षण की पूर्ण अवधि दो घंटे की रही,जिसके दौरान उन्होंने अस्पताल के हर विभाग की व्यवस्था देखी। सर्वप्रथम,उन्होंने एसएनसीयू में भर्ती नवजात शिशु के देखभाल की व्यवस्था देखी और वहां पर मौजूद बाल रोग चिकित्सक डॉ. डी.वी. सिंह एवं डॉ.संजय मोहन गुप्ता से जानकारी ली और दिया जा रहा उचित इलाज व साफ सफाई पर संतोष जताया और एमएनसीयू की भी तारीफ की ।


इसके पश्चात उन्होंने , अल्ट्रासाउंड कक्ष,दोनों ओ.टी.,सर्जिकल वार्ड,आयुष्मान वार्ड,एवं लेबर रूम का भी निरीक्षण किया और साफ सफाई की प्रशंसा की और सभी चीजों का रखरखाव एवं व्यवस्था से संतुष्ट दिखीं । 

sscs


कुछ मरीजों से भी अस्पताल में मिल रही सुविधाओं,जैसे की इलाज,भोजन,स्टाफ के व्यवहार, व अन्य सभी बिंदुओं पर जानकारी भी ली और सभी मरीजों ने बताया कि उन्हें कोई शिकायत नहीं है ।

https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-2953008738960898" crossorigin="anonymous">


तत्पश्चात,उन्होंने डॉक्टर्स के राउंड ,ड्यूटी के समय,समय से उपस्थिति इत्यादि के बारे में जानकारी ली जोकि व्यवस्था दुरुस्त मिली।
अस्पताल में स्थित जन औषधि केंद्र का भी हाल जाना और हेल्प डेस्क,रजिस्ट्रेशन काउंटर,ओपीडी,पैथोलॉजी,एवं आयुष्मान केंद्र का भी निरीक्षण किया उनके द्वारा किया गया जहां पर सभी चीजें दुरुस्त मिलीं व कोई भी कमी नहीं मिली।


अस्पताल में बनाए गए एंबुलेंस कॉरिडोर एवं बहुत ही स्वच्छ कैंपस की भूरि भूरि प्रशंसा की और अस्पताल में हो रहे उच्च स्तरीय इलाज व व्याप्त अनुशासन की भी तारीफ की ।


रैन बसेरा में सफाई,अलाव की व्यवस्था और सभी वार्ड में भी हीटर और कंबल की अच्छी व्यस्था देख,संतोष जताया।


पीने का पानी,शौचालय,ऑक्सीजन प्लांट,जनरेटर,इत्यादि,अस्पताल की हर क्षेत्र में उत्तम व्यवस्था व रखरखाव के लिए अति प्रसन्नता व्यक्त की व भविष्य में भी अच्छा कार्य करते रहने की सभी डॉक्टर्स और स्टाफ को हिदायत दी ।
मरीजों द्वारा दिया गया फीडबैक भी अच्छा था ।


उनके निरीक्षण के दौरान जिला महिला अस्पताल की  प्रमुख चिकित्सा अधीक्षिका,डॉ.मनीषा सिंह सेंगर,एडिशनल सीएमओ,डॉ.एस एस कनौजिया,एवं अस्पताल के वरिष्ठ चिकित्सक,डॉ.अलका सिंह,डॉ.संजीव वर्मा ,डॉ.राजेश्वर नारायण सिंह व मैट्रन सुषमा सिंह,सिस्टर दीपिका दयाल,प्रधान सहायक,जोगेंद्र सिंह उपस्थित रहे ।


।जिला महिला चिकित्सालय  निरीक्षण के पश्चात आयोग की सदस्य रामनगर स्थित बाल सुधार गृह तथा बाल गृह  पहुंची सबसे पहले उन्होंने राजकीय बल गृह बालक का निरीक्षण किया निरीक्षण के दौरान संस्था के प्रभारी अधीक्षक सौरभ मौर्य तथा अन्य स्टाफ उपस्थित रहे संस्था में 100 के सापेक्ष  27 बच्चे आवासित पाए गए। जिसमें से 10 बच्चे मानसिक मंदित तथा मूकबधिर श्रेणी के थे आयोग की सदस्य  द्वारा इन बच्चों को सामान्य बच्चों से अलग रखने हेतु निर्देश दिए गए ।संरक्षण अधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि मुख्य विकास अधिकारी तथा जिला प्रोबेशन अधिकारी महोदय के निर्देशन में संस्था तथा जिला बाल संरक्षण इकाई के स्टाफ द्वारा बच्चो की नियमित काउंसलिंग कर सबका पता ज्ञात कर उन सभी बच्चो को घर भेजने की कार्यवाही की गई है जिनका पता ज्ञात हो गया और  वो घर जाना चाहते थे पर घर वाले बच्चो को लेने नही आ रहे थे विगत दो वर्षो में बाल कल्याण समिति के आदेश से  2142 बच्चो का गृह पुनर्वासन हुआ है.आयोग की सदस्या द्वारा इस कार्य हेतु काफी प्रशंसा की गई ।

बाल सुधार गृह में निरीक्षण के दौरान सहायक अधीक्षक संजय मिश्रा तथा संस्था के अन्य कार्मिक उपस्थित रहे यहां पर 75 की क्षमता के सापेक्ष 108 बच्चे निरुद्ध  पाए गए आयोग की सदस्य द्वारा जो बच्चे चोरी के केस में निरुद्ध हैं तथा जिनके पास अधिवक्ता नही है इस तरह के बच्चो की प्रभावी पैरवी कर किशोर न्याय बोर्ड के माध्यम से उन्हे मुक्त कराने हेतु निर्देश दिया गया,इसके बाद लहुराबीर स्थित रानी राम कुमारी वनिता विश्राम काशी अनाथालय पहुंची यहां पर 10 वर्ष से कम आयु की 8बालिकाएं तथा 11 वर्ष से अधिक आयु की 17 बालिकाएं आवासित पाई गईं ,संस्था की परामर्श दाता को जो बच्चियां घर नही जाना चाहती उनकी नियमित  काउंसलिंग कर उन्हे घर भेजने की कार्यवाही किए जाने हेतु निर्देश दिया गया ,अधीक्षक अरुण कुमार सिंह द्वारा बताया गया कि संस्था कारा से भी लिंक जिससे यहां से दत्तक ग्रहण में बच्चे दिए जाते हैं वर्ष 2019 से अब तक कुल 33 एडॉप्शन इस संस्था के माध्यम से हुए हैं।


दिनांक 18.01.2024 को सभी विनगो के साथ समीक्षा बैठक तथा एक युद्ध नशे के विरुद्ध कार्यक्रम के तहत शपथ ग्रहण कार्यक्रम के साथ मदरसों का निरीक्षण किया जाना प्रस्तावित है।

Share this story