×

Varanasi News: जमीन के विवाद को लेकर घर में घुसकर पाटीदारों ने 14 वर्षीय नाबालिक लड़की को बेरहमी से मारा गया

Varanasi News: जमीन के विवाद को लेकर घर में घुसकर पाटीदारों ने 14 वर्षीय नाबालिक लड़की को बेरहमी से मारा गया

Varanasi News: जमीन के विवाद को लेकर घर में घुसकर पाटीदारों ने 14 वर्षीय नाबालिक लड़की को बेरहमी से मारा गया

वाराणसी: खबर उत्तर प्रदेश के वाराणसी शहर से है। जहां पर इन दोनों उत्तर प्रदेश सरकार और केंद्र सरकार बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ के नारे, के साथ नारी उत्थान एवं नारी विकास की योजनाओं को लागू करके नारी शक्ति को बढ़ावा दे रही है नारी के सम्मान को सशक्तिकरण के रूप में नारी सशक्ति को  बढ़ावा दे रही है।

लगातार महिलाओं को सम्मान दिया जा रहा है और साथ ही उत्तर प्रदेश सरकार महिलाओं के प्रति अग्रसर है। लेकिन इसका दूसरा चेहरा आज राजातलाब थाना क्षेत्र अंतर्गत देखने को मिला जहां पर ममता देवी पत्नी नन्हेंलाल निवासी बंगालीपुर ग्राम सभा में एक ऐसा मामला सामने आया जहां पर नाबालिक लड़की को बड़ी ही बेरहमी से लाठी डंडे से मारा व पीटा गया।

rfsd

जिससे उसका सर फट गया उसके सिर पर 7 टांके लगाए गए हैं। जो इस समय कबीर चौरा हॉस्पिटल में भर्ती है। पीड़िता शालिनी कुमारी,का इलाज चल रहा है। मला राजा तलब थाना अंतर्गत का है जहां पर जमीन को कब्जा करने के विवाद को लेकर प्राथमिक के झोपड़ी में घुस गए और घुसते ही मां बहन की भद्दी भद्दी गली देते हुए घर में रखा हुआ सामान फेंकने लगे जब पीड़िता ने इसका विरोध किया तो पुत्री शालिनी कुमारी आयु 14 वर्ष जो नाबालिक है। उसे बड़ी बेरहमी से विपक्षिगण लोगों ने एकजुट होकर मारा पीटा।

https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-2953008738960898" crossorigin="anonymous">

ममता देवी की पुत्री शालिनी कुमारी के साथ अश्लील हरकत भी की गई। उसके प्राइवेट पार्ट्स को दबाया गया। गाली गलौज करते हुए जान से मारने की धमकी दी गई। यह सब होता देख जब कुछ लोगों ने बीच बचाव किया और पुलिस को बुलाया तो यह सारा मामला थाने पर चला गया। जहां पर राजा तालाब थाना अध्यक्ष द्वारा विभिन्न धाराओं में मुकदमा पंजीकृत किया गया है।

gyrhftgb

आईपीसी की धारा 147, 452, 323, 427, 354, 354, (ख) 307, 308, 504, 506, के साथ  लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम 2012, 7  व लैंगिक अपराधों से बालिकाओं का संरक्षण अधिनियम 2012, 8 का हवाला देते हुए मुकदमा पंजीकृत किया गया है। मुकदमा निम्न लोगों पर पंजीकृत है जिनका विवरण इस प्रकार है नंदलाल, जितेंद्र कुमार, सिकंदर कुमार, अंकित कुमार, उषा देवी, इत्यादि लोगों पर आईपीसी की धारा में मुकदमा पंजीकृत किया गया है।

आगे की कार्रवाई अभी शेष है किसी की भी गिरफ्तारी नहीं हुई है। मन बढ़ व गुंडा प्रवृत्ति के लोग लगातार डरवा धमका कर पीड़ित परिवार को मारने व पीटने के साथ ही जान से मारने की धमकी देकर डरवा धमका रहे हैं।

और दबाव बना रहे हैं कि अपना मुकदमा वापस ले लो नहीं तो अंजाम अच्छा नहीं होगा। समय रहते यदि प्रशासन ने एक्शन नहीं लिया तो कोई भी अप्रिय घटना हो सकती है । परिजनों का कहना है जिसका जिम्मेदार जिला प्रशासन व पुलिस प्रशासन होगा।


रिपोर्टर विवेक कुमार यादव 

Share this story