×

Varanasi News: उत्तर प्रदेश आँगनबाड़ी कर्मचारी कल्याण एसोसिएशन ने माँगों को पूरा कराने हेतु किया धरना प्रदर्शन

Varanasi News

 

 

Varanasi News: अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के पूर्व संध्या पर उत्तर प्रदेश आँगनबाड़ी कर्मचारी कल्याण एसोसिएशन ने बाबूलाल मौर्य की अध्यक्षता में पुलिस लाइन बेसिक शिक्षा कार्यालय से कचहरी तक तिरंगा पद यात्रा निकाला गया और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के माँगों के समर्थन में 6 सूत्रिय माँगों को पूरा कराने हेतु मण्डलायुक्त वाराणसी मण्डल, वाराणसी के हाथों प्रधानमंत्री भारत सरकार को ज्ञापन भेजा।

 

तिरंगा पद यात्रा में एसोसिएशन की प्रदेश अध्यक्ष अंजनी मौर्या एवं प्रदेश महामंत्री लीला सिंह ने संयुक्तरूप से कहा कि जब हम आँगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की तारिफ प्रधानमंत्री मुख्यमंत्री एवं राज्यपाल महोदया द्वारा हर मंचों से किया जाता है तो निम्नतम मानदेय देने या शासकीय कर्मचारी घोषित करने में परहेज क्यों, ऐसा लगता है तारिफ करना हास्यपद, नाइंसाफी या छलावा है। अपने 6 सुत्रिय मांगों को लोकसभा चुनाव से पहले पूरा कराने के लिए अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के पूर्व संध्या पर तिरंगा पद यात्रा के माध्यम से गुहार लगाई।

आँगनबाड़ी कार्यकर्ताओं एवं पदाधिकारियों ने बताया जब  प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री के हर सभा व कार्यक्रम एवं सरकारी कार्यों में बुलाया एवं लगाया जाता है तो आँगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को शासकीय कर्मचारी घोषित करने/नागरिक अधिकार देने के बजाय नारी बन्धन की बात करते हैं। कभी यशोदा माँ, कभी देवी बना देते हैं। यह एक धोखा है। उपस्थित सभी ने शासकीय कर्मचारी घोषित करने एवं मानदेय बढ़ाने की जोरदार आवाद उठाया।

https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-2953008738960898" crossorigin="anonymous">

कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे बाबूलाल मौर्य जिलाध्यक्ष एवं संचालन कर रही गीता सिंह जिलामंत्री ने उपरोक्त माँगो एवं बातों को सही बताया और पूरा होने तक संघर्ष जारी रखने का शपथ दिलाया।

तिरंगा पद यात्रा में मुख्यरूप से शशिकान्त श्रीवास्तव, रामचन्द्र गुप्ता, विजय पाण्डेय, संजय सिंह, शकुन्तला यादव, शैल सिंह, सिन्धुगिरि, प्रवेश सिंह, रानू मौर्या, सरिता पाण्डेय, नगीना देवी, अंजना सोनी, सुदामा पटेल, विनिता श्रीवास्तव, शशिकला पाल व मनोरमा सहित सैकड़ों आँगनबाड़ी कार्यकर्ता व सहायिका एवं पदाधिकरी उपस्थित रहे।

Share this story