×
Varanasi news in hindi: BHU अस्पताल में कुख्यात अपराधी की मौत, NIA अफसर और उनकी पत्नी की हत्या मामले में हुई थी फांसी की सज़ा
Varanasi news in hindi: Notorious criminal died in BHU hospital, NIA officer and his wife were sentenced to death in the murder case

Varanasi news in hindi: Notorious criminal died in BHU hospital, NIA officer and his wife were sentenced to death in the murder case

वाराणसी। BHU स्थित सर सुंदरलाल चिकित्सालय में NIA के डिप्टी एसपी तंजील अहमद और उनकी पत्नी फरजाना की हत्या करने वाले अपराधी मुनीर अहमद की बीमारी की वजह से मौत हो गयी है। बिजनौर जिले के सहसपुर निवासी मुनीर को सोनभद्र जेल से बीती 19 नवंबर को लाकर सर सुंदरलाल हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था।

 

 

डॉक्टरों के अनुसार, कैदी मुनीर को यूरिन इंफेक्शन और ब्लड प्रेशर संबंधी समस्या के कारण सोनभद्र जेल से BHU अस्पताल लाया गया था। उसका इम्यून सिस्टम खराब होने के कारण उसकी मौत हो गई है।

 

 

वीडियो कैमरे के सामने डॉक्टरों के पैनल से पोस्टमार्टम करा कर उसे उसके परिजनों को सौंप दिया जाएगा। मुनीर के खिलाफ यूपी, दिल्ली समेत अन्य राज्यों में 33 मुकदमे दर्ज हैं। वह एक अंतरराज्यीय अपराधी था।

 

 

कौन सी केस में हुई थी सजा

पुलिस अधीक्षक धर्मवीर सिंह ने बताया कि इस दोहरे हत्याकांड में चले मुकदमे में अपर जिला न्यायाधीश (एडीजे कोर्ट पांच) विजय कुमार की अदालत में 19 गवाहों के बयान दर्ज हुए हैं।

varanasi today latest news in hindi

 

पुलिस अधीक्षक ने घटना का ब्यौरा देते हुए बताया कि 2-3 अप्रैल 2016 की रात एनआईए के पुलिस उपाधीक्षक तंजील अहमद और उनकी पत्नी फरजाना स्योहारा में शादी समारोह से वापस कार से बच्चों के साथ घर सहसपुर लौट रहे थे, तभी उनके आवास से कुछ पहले पुलिया पर घात लगाए बदमाशों ने दोनो की गोली मारकर हत्या कर दी थी।

उस हत्या में मुनीर, रैयान, जैनी, तंजीम अहमद और रिजवान के नाम सामने आए थे।


इस मामले में हत्या समेत सुसंगत धाराओं में अज्ञात के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई गई, लेकिन विवेचना के दौरान हत्या में मुनीर, रैयान, जैनी, तंजीम अहमद और रिजवान के नाम सामने आए। ये एनआईए अधिकारी के पड़ोसी थे और सभी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था।

अंतरराज्यीय गैंग का सरगना और हिस्ट्रीशीटर मुनीर पर चल रहे थे 33 केस, मुनीर माफिया घोषित हो गया था। पुलिस अधीक्षक के अनुसार मुनीर शासन द्वारा राज्य स्तरीय माफिया घोषित है और इसके विरुद्ध विभिन्न राज्यों और जिलों में 33 मामले चल रहे हैं। मुनीर को गैंगस्टर कोर्ट ने 16 अप्रैल 22 को 10 वर्ष कारावास की सजा से दंडित किया है।

Varanasi samachar

न्यायधीश की सुरक्षा में तैनात पुलिस जवान की हत्‍या की थी


 

पुलिस के अनुसार लखनऊ के गोमतीनगर में न्यायधीश की सुरक्षा में तैनात आरक्षी प्रमोद कुमार को गोली मारकर उसकी नाइन एमएम की पिस्टल लूटने और लखनऊ के थाना विभूति नगर में नमन वर्मा की हत्या कर उसकी मोटरसाइकिल लूटने जैसे अनेक गंभीर आरोप मुनीर के खिलाफ दर्ज हैं।

कैश वैन से 91 लाख रुपए की लूट

अंतरराज्यीय गैंग के सरगना और हिस्ट्रीशीटर मुनीर पर धामपुर के पंजाब नेशनल बैंक की कैश वैन से 28 दिसंबर 2015 को गार्ड को गोली मारकर 91 लाख कैश लूटने का भी मामला दर्ज है।

Share this story