×

Varanasi news in hindi: वाराणसी के 17 अस्पतालों को मिला नोटिस, स्वास्थ्य विभाग ने दी कार्यवाही की चेतावनी

Varanasi news in hindi: वाराणसी के 17 अस्पतालों को मिला नोटिस, स्वास्थ्य विभाग ने दी कार्यवाही की चेतावनी

वाराणसी के मुख्य चिकित्सा अधिकारी सीएमओ ने प्राइवेट अस्पतालाें के डॉक्टरों संग समीक्षा बैठक की। सीएमओ ने दो टूक मे कहा कि वाराणसी की हेल्थ रैंकिंग सुधारने के लिए प्राइवेट हाॅस्पिटल्स भी आगे आए, टाइम से हेल्थ मैनेजमेंट इन्फॉर्मेशन सिस्टम (HIMS) पोर्टल पर रिपोर्ट अपडेट करते रहे।

वाराणसी की हेल्थ रैंकिंग सुधारने में प्राइवेट अस्पताल बाधा बन रहे हैं। यहां के अस्पतालों की एक लापरवाही सामने आई है, वाराणसी के 17 अस्पतालों ने सही समय सीमा में अपने मरीजों और इलाज से जुड़े आंकड़े सरकार से नहीं शेयर किए हैं।

 

वाराणसी के स्वास्थ्य अधिकारियों ने प्राइवेट अस्पतालाें के डॉक्टरों संग बैठक कर HIMS पोर्टल पर सयम ये डाटा फीड न करने वालों को नोटिस भेजने की बात कही है। - Dainik Bhaskar

 

वाराणसी के मुख्य चिकित्सा अधिकारी सीएमओ ने प्राइवेट अस्पतालाें के डॉक्टरों संग समीक्षा बैठक की। सीएमओ ने दो टूक मे कहा कि वाराणसी की हेल्थ रैंकिंग सुधारने के लिए प्राइवेट हाॅस्पिटल्स भी आगे आए, टाइम से हेल्थ मैनेजमेंट इन्फॉर्मेशन सिस्टम (HIMS) पोर्टल पर रिपोर्ट अपडेट करते रहे।

उन्होंने बताया कि हर महीने की 25 तारीख तक पोर्टल पर डाटा फीड कर दें। इसका पालन न करने वाले अस्पतालों पर कड़ी कार्यवाही होगी।

वाराणसी में सीएमओ ने प्राइवेट अस्पतालों के डॉक्टरों संग समीक्षा बैठक की।

डिप्टी सीएमओ डॉ. एचसी मौर्य ने कहा कि HIMS पोर्टल पर वाराणसी के कुल 32 अस्पताल दर्ज हैं, मगर केवल 15 अस्पताल ही समय से रिपोर्टिंग कर रहे हैं। बाकी के 17 अस्पतालों ने तय समय में डाटा फीड नहीं किया,  इन सभी अस्पतालों को अब नोटिस दिया गया है।

रेगुलर वैक्सीनेशन की भी हो रिपोर्टिंग

प्राइवेट अस्पतालों को प्रसव पूर्व जांच, रेगुलर वैक्सीनेशन, संस्थागत प्रसव, परिवार कल्याण के तय बिंदुओं की पोर्टल पर फीडिंग और समय पर रिपोर्टिंग करना जरूरी है। उन्होंने सभी प्राइवेट अस्पतालों के संचालकों और मैनेजरों को निर्देशित किया कि यह काम महीने के अंतिम सप्ताह के भीतर ही पूरा कर लें। यह भी कहा कि ज्यादा से ज्यादा प्राइवेट अस्पताल HIMS पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करा लें। इससे उनकी भी रिपोर्ट मिल सके।

https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-2953008738960898" crossorigin="anonymous">

गर्भवती महिलाओं की प्रसव पूर्व निगरानी जरूरी

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मिसिरपुर पर आयोजित दो दिवसीय फ्रंटलाइन वर्कर के प्रशिक्षण कार्यक्रम में स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी विनोद सिंह ने गर्भवती महिलाओं की प्रसव पूर्व  बेहतर देखभाल को जरूरी बताया। गर्भवती महिलाओं के प्रथम त्रैमासिक अवधि में पंजीकरण जरूरी है, इसके लिए आशा कार्यकर्ताओं को गृह भ्रमण करने की जरूरत है। कार्यशाला में चिकित्सा अधीक्षक डॉक्टर आरबी सिंह ने स्वास्थ्य योजना में गुणवत्ता लाने पर जोर दिया।

हेल्थ कंडीशन की होगी रियल टाइम रिपोर्टिंग

NHM के जिला कार्यक्रम मैनेजर संतोष सिंह ने बताया कि HIMS पोर्टल पर दर्ज आंकड़ें शासन को उपलब्ध कराया जाता है। इससे किसी भी जिले के हेल्थ कंडीशन की रियल टाइम रिपोर्टिंग हो पाती है। उन्होंने बताया कि टिटनेस के साथ डिप्थीरिया का भी टीका लगाया जा रहा है।

वैक्सीनेशन में लगी ANM इसकी रिपोर्टिंग समय से करें। स्वास्थ्य योजनाओं के हर दिन के कार्यक्रमों में प्राइवेट अस्पतालों का भी सहयोग लिया जाए। परिवार कल्याण के अंतर्गत हौसला साझेदारी कार्यक्रम पुनः सक्रिय हो गया है। इसमें सभी प्राइवेट अस्पतालों से सहयोग की अपेक्षा है।

Share this story