वाराणसी: जिलाधिकारी ने कहा- युवाओं के अलावा कई अन्य लोग भी हुए हैं उपद्रव में चिह्नित, इकट्ठा की जा रही उनकी जानकारी
वाराणसी: जिलाधिकारी ने कहा- युवाओं के अलावा कई अन्य लोग भी हुए हैं उपद्रव में चिह्नित, इकट्ठा की जा रही उनकी जानकारी

मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल, पुलिस कमिश्नर ए सतीश गणेश और डीएम कौशल राज शर्मा ने व्यवस्थाओं का जायजा लिया।

वाराणसी। सुबह 9 बजे से लेकर साढ़े 10 बजे तक वाराणसी के कैंट जंक्शन के बहार हुए सेना भर्ती 'अग्निपथ' को लेकर हुए प्रदर्शन के बाद अधिकारियों ने वाराणसी जंक्शन का निरीक्षण किया।

मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल, पुलिस कमिश्नर ए सतीश गणेश और डीएम कौशल राज शर्मा ने व्यवस्थाओं का जायजा लिया।

इस दौरान डीएम ने बताया कि युवाओं ने रोडवेज की दस से बारह बसों को अपना निशाना बनाया है और एक प्राइवेट कार को भी तोड़ा है। साथ ही रेलवे ट्रैक पर टायर और ड्रम रखकर आग भी लगायी थी जिसे बुझा लिया गया है।

 
उन्होंने बताया कि इसके अलावा आशापुर में उपद्रवियों को रोका गया तो उन्होंने रेलवे ट्रैक पर चढ़कर करीब दस मिनट तक पत्थरबाजी भी की है। उसकी भी जांच शुरू कर दी गयी है।

उन्होंने कहा कि जुमे की नमाज के लिए सेक्टर और जोनल मजिस्ट्रेटों और पुलिस विभाग की टीम लगायी गयी है, जैसे ही वह लोग वहां से खाली होंगे उन्हें इस काम में लगाया जाएगा। 

उन्होंने कहा कि साढ़े दस बजे के बाद पूरे जिले और शहर के हालात सामान्य हैं। नमाज का समोय होगया है सभी लोग नमाज की ड्यूटी में लगे हुए हैं।

सभी लोग शान्ति बनाने के लिए लगे हुए हैं और आगे भी ड्यूटी भी शान्ति व्यवस्था के लिए लगेंगी। उन्होंने कहा कि जबी सारी चीजें समाप्त हो जाएँगी तो हम बैठकर बात करेंगे और देखा जाएगा कि क्या-क्या कार्रवाई करनी है।

Share this story