वाराणसी: ज्ञानवापी केस के मुस्लिम पक्ष के अधिवक्ता की हार्ट अटैक से मौत
वाराणसी: ज्ञानवापी केस के मुस्लिम पक्ष के अधिवक्ता की हार्ट अटैक से मौत​​​​​​​

अभय नाथ यादव की हार्ट अटैक से हुई मौत

वाराणसी। ज्ञानवापी और श्रृंगार गौरी केस में मुस्लिम पक्ष की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता अभय नाथ यादव का निधन हो गया है।

 आज रात उन्हें हार्ट अटैक आने पर अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. वह वाराणसी के मकबूल आलम रोड स्थित हॉस्पिटल में भर्ती थे।

मालूम हो कि श्रृंगार गौरी और ज्ञानवापी केस में सभी पक्ष पोषणीयता (सुनवाई करने या नहीं करने) के मुद्दे पर अपनी बहस पूरी कर चुके हैं। अब 4 अगस्त को मुस्लिम पक्ष की ओर से प्रत्युत्तर रखा जाना था, जिसमें मुस्लिम पक्ष के वकील अभय नाथ यादव की अहम भूमिका होती।

ज्ञानवापी मामले में आपको बता दें कि दिल्ली निवासी राखी सिंह और दूसरे लोगों की याचिका पर वाराणसी के सिविल जज की अदालत ने बीते 26 अप्रैल को ज्ञानवापी मस्जिद-श्रृंगार गौरी परिसर का वीडियोग्राफी सर्वे कराने का निर्देश दिया था। सर्वे का यह काम 16 मई को पूरा हुआ था, जिसकी रिपोर्ट 19 मई को अदालत में पेश की गई थी।

हिंदू पक्ष ने सर्वे के अंतिम दिन ज्ञानवापी मस्जिद के वजूखाने में मिली संरचना के शिवलिंग होने का दावा किया था।

 उधर, मुस्लिम पक्ष ने हिंदुओं के इस दावों को नकारते हुए कहा था कि वह आकृति शिवलिंग नहीं, बल्कि फव्वारा है। इसके बाद कोर्ट ने परिसर के विवादित हिस्से को सील करने का आदेश दिया था।

उधर, सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस डी. वाई. चंद्रचूड़, जस्टिस सूर्यकांत और जस्टिस पी.एस. नरसिम्ह की बेंच अक्टूबर में इस मामले की सुनवाई करेगी।

शीर्ष अदालत ने कहा कि वह विवादित स्थल के सर्वे के लिए कोर्ट कमिश्नर की नियुक्ति को वैध ठहराने संबंधी इलाहाबाद हाई कोर्ट के आदेश के खिलाफ मस्जिद कमेटी की अपील को अक्टूबर के पहले सप्ताह में सुनवाई के लिए स्थगित कर रही है।

Share this story