गर्भ में शिशु के गर्दन में लिपट गयी थी नाल, जान बचाने के लिए किया आपरेशन
 गर्भ में शिशु के गर्दन में लिपट गयी थी नाल, जान बचाने के लिए किया आपरेशन

 हाथी (सेवापुरी) सीएचसी में अब सामान्य के साथ सिजेरियन प्रसव की भी सुविधा

 वाराणसी। जिले प्रसव संबंधी सुविधाओं के सुदृढ़ीकरण के प्रयास जारी हैं। इसी क्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गोद लिये गये सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र (सीएचसी) हाथी में भी सामन्य प्रसव के साथ ही सिजेरियन प्रसव की सुविधा शुरू कर दी गयी है। शनिवार को यहां आपरेशन से पहला प्रसव हुआ। उच्च जोखिम वाली गर्भवती को हुए सिजेरियन प्रसव के बाद जच्चा-बच्चा दोनों स्वस्थ हैं। इसके साथ ही सेवापुरी ब्लाक के हाथी सीएचसी में अब सामान्य प्रसव के साथ ही सिजेरियन प्रसव की भी सुविधा शुरू हो गयी।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. संदीप चौधरी ने बताया कि जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा के निर्देशन में जिले में प्रसव सम्बन्धी सुविधाओं के सुदृढ़ीकरण के लिए विशेष प्रयास किये जा रहे हैं। जनपद के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में भी सामान्य प्रसव के साथ ही सिजेरियन प्रसव की सुविधा उपलब्ध कराने की कोशिश है।

इस क्रम में ही सेवापुरी ब्लाक के सीएचसी हाथी में भी सिजेरियन प्रसव की सुविधा शुरू करते हुए शनिवार को गर्भवती सूरज देवी (25 वर्ष ) का आपरेशन से पहला सफलतापूर्वक प्रसव कराया गया। यह आपरेशन में एनेस्थीसिया विशेषज्ञ व डीआईओ डा. निकुंज कुमार वर्मा, स्त्री रोग विशेषज्ञ डा अंजली शर्मा, प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डा. देवदत्त सिंह, डा. देवेंद्र कुमार, डा. जितेश नारायण, डा. जयगोविंद चौहान की देखरेख में किया गया।

सीएचसी हाथी के अधीक्षक डा. हंसराज ने बताया कि खरगूपुर गांव निवासी विमल की पत्नी सूरज देवी को प्रसव पीड़ा के चलते शुक्रवार को यहां भर्ती कराया गया था। यह उसका दूसरा प्रसव था। पहले प्रसव के बाद उसके बच्चे की मौत हो गयी थी। वह उच्च जोखिम वाली गर्भवती थी। जांच में पता चला कि गर्भस्थ के गर्दन में नाल लिपटी हुई है। जच्चा-बच्चा की जान बचाने के लिए तत्काल आपरेशन की जरूरत थी। लिहाजा आपरेशन कर सुरक्षित प्रसव कराया गया। आपरेशन के बाद जच्चा-बच्चा स्वस्थ हैं।

इस कार्य में बीपीएम अनूप कुमार मिश्रा, सुनील बच्चन, विवेक सिंह, रुचि, अर्चना, शकुंतला, फिरदौस, सतेंद्र, जड़ावती, वीरेन्द्र, राकेश, कुसुम, राजीव, सुभाष एवं अन्य स्टाफ ने सराहनीय सहयोग दिया। उन्होंने बताया कि इसके साथ ही सीएचसी हाथी में अब सामान्य प्रसव के साथ ही सिजेरियन प्रसव की सुविधा भी शुरू हो चुकी है। क्षेत्र की गर्भवती महिलाओं को इसका काफी लाभ मिलेगा। जरूरत पड़ने पर उन्हें सिजेरियन प्रसव की सुविधा उपलब्ध होगी।

Share this story