×
वाराणसी में धोखाधड़ी सहित पशु तस्करी मामले में फरार चल रहे आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार
Police arrested the absconding accused in the animal smuggling case including cheating in Varanasi

वाराणसी। पुलिस अधीक्षक वाराणसी ग्रामीण सूर्यकांत त्रिपाठी के निर्देशन में अपराध एवं अपराधियों की रोकथाम गिरफ्तारी के लिए चलाये जा रहे अभियान के क्रम में अपर पुलिस अधीक्षक वाराणसी ग्रामीण नीरज कुमार पांडेय के पर्यवेक्षण में तथा क्षेत्राधिकारी बड़ागाँव अजय कुमार श्रीवास्तव के नेतृत्व में थाना कपसेठी पुलिस ने

धोखाधड़ी सहित गोवध निवारण अधिनियम व पशु क्रूरता अधिनियम के विवेचना के दौरान प्रकाश में आये आरोपी सुरेश 52 वर्ष निवासी ग्राम मझगवां कलां थाना कपसेठी को गुरुवार को दबिश देकर सियरहां तिराहे से गिरफ्तार कर विधिक कार्यवाही करते हुए जेल भेज दिया गया।गिरफ्तार करने वाले पुलिस टीम में बैद्यनाथ सिंह थानाध्यक्ष कपसेठी, उप निरीक्षक, रामराज शुक्ल, उपनिरीक्षक, धर्मचन्द, कांस्टेबल विक्रम कुमार शामिल रहे।

वाराणसी में चाय पान के गोमती में शरारती तत्वों ने लगाई आग, सभी सामान जलकर हुआ राख

वाराणसी। रोहनिया थाना क्षेत्र के पुलिस चौकी मोहनसराय के समीप बीती रात कुछ शरारती तत्वों ने, बीस वर्ष पुराने एक चाय पान के गोमती में आग लगा दिया। आगजनी से लाखों रुपये के सामान जलकर खाक हो गए। आगजनी की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुँच जाँच पड़ताल में जुटी है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक मोहनसराय निवासी बिरजू गुप्ता का पुलिस चौकी मोहनसराय के समीप विगत बीस वर्षों से चाय पान की दुकान (गोमती) थी। पीड़ित ने बताया कि पास के मंदिर पर रहने वाले मन्नू बाबा,मुन्ना,गोपी व रामराज ने भूमि विवाद को लेकर हमसे आये दिन कहासुनी वाद विवाद करते रहते थे।

जिसके निस्तारण के लिए नौ नवम्बर को राजस्व टीम पैमाइश के लिए आने वाली थी। लेकिन किसी कारण बस टीम नही पहुँची। बीती रात जब जब मैं ग्यारह बजे दुकान बंद करके घर चला गया तो दो बजे भोर में आगजनी की सूचना हमें मिल। जिस पर भागते हुए मैं दुकान पर आया तो देखा कि दुकान में आग लगी हुई है। आग की भयंकर लपटे उठ रही थी। जिसे कुछ लोगो के मदद से आग पर काबू पाया गया। तब तक चाय की बर्तन,गैस चूल्हा,बेचने वाला सामान,फ्रिज इत्यादि जल चुका था जिससे लाखों की क्षति हुई है।

रोहनिया थाना क्षेत्र के पुलिस चौकी मोहनसराय के समीप बीती रात कुछ शरारती तत्वों ने, बीस वर्ष पुराने एक चाय पान के गोमती में आग लगा दिया। आगजनी से लाखों रुपये के सामान जलकर खाक हो गए। आगजनी की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुँच जाँच पड़ताल में जुटी है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक मोहनसराय निवासी बिरजू गुप्ता का पुलिस चौकी मोहनसराय के समीप विगत बीस वर्षों से चाय पान की दुकान (गोमती) थी। पीड़ित ने बताया कि पास के मंदिर पर रहने वाले मन्नू बाबा,मुन्ना,गोपी व रामराज ने भूमि विवाद को लेकर हमसे आये दिन कहासुनी वाद विवाद करते रहते थे।

जिसके निस्तारण के लिए नौ नवम्बर को राजस्व टीम पैमाइश के लिए आने वाली थी। लेकिन किसी कारण बस टीम नही पहुँची। बीती रात जब जब मैं ग्यारह बजे दुकान बंद करके घर चला गया तो दो बजे भोर में आगजनी की सूचना हमें मिल। जिस पर भागते हुए मैं दुकान पर आया तो देखा कि दुकान में आग लगी हुई है। आग की भयंकर लपटे उठ रही थी। जिसे कुछ लोगो के मदद से आग पर काबू पाया गया। तब तक चाय की बर्तन,गैस चूल्हा,बेचने वाला सामान,फ्रिज इत्यादि जल चुका था जिससे लाखों की क्षति हुई है।

Share this story