मंचकला विभाग द्वारा संस्कार दीक्षा साप्ताहिक कार्यक्रम के अंतर्गत "देशभक्ति गीत प्रतियोगिता" का आयोजन
मंचकला विभाग द्वारा संस्कार दीक्षा साप्ताहिक कार्यक्रम के अंतर्गत "देशभक्ति गीत प्रतियोगिता" का आयोजन

वाराणसी। दिनांक 06 अगस्त 2022 दिन शनिवार को मंचकला विभाग में विश्वविद्यालय के मानविकी संकाय के संस्कार दीक्षा साप्ताहिक कार्यक्रम के अंतर्गत "देशभक्ति गीत प्रतियोगिता" का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता  संकायाध्यक्ष प्रो योगेंद्र सिंह ने की। कार्यक्रम में मानविकी संकाय के विभिन्न विभागों के विद्यार्थियों द्वारा देशभक्ति गीतों की प्रस्तुति की गई।

सर्वप्रथम  मंच कला विभाग के विद्यार्थियों द्वारा क्रमशः समूह गायन एम म्यूज चतुर्थ सेमेस्टर के वैशाली, सुष्मा, शीनू, रोशनी, एकांश,विवेक के द्वारा "भारत हमारी मां है..., संस्कृत विभाग के एम ए द्वितीय सेमेस्टर के छात्र प्रवीण त्रिपाठी ने संस्कृत में देशभक्ति गीत गाया।एम म्यूज द्वितीय सेमेस्टर के सोनम,प्रगति, प्रिया,एकता, द्वारा "आओ हम सब गाए इस देश के तराने...", तत्पश्चात मोनिका, रूपिका,शालू,आशीष एवम अनिकेत के द्वारा "परदेसी ये बात न पूछो..., बी म्यूज के श्रेयांश, करन,सौरभ,तृप्ति, अन्वीति, अंजली के द्वारा  "भारत की शान को कभी मिटने न देंगे..., बी म्यूज तृतीय वर्ष के सूरज,रोहित,अविनाश,भाविका, श्रेया,नेहा के द्वारा "सबसे ऊंची विजय पताका..., कोटि कोटि कंठो ने गाया..., देश के हर व्यक्ति में अभिमान होना चाहिए... गाकर जोश में वृद्धि की गई।

तबले पर संगत सुमंत कुमार ने और हारमोनियम पर मंचकला विभाग के विद्यार्थियो ने किया। इस अवसर पर अंग्रेजी विभाग के अध्यक्ष प्रो नलिनी श्याम कामिल ने कार्यक्रम में हुई प्रस्तुतियों की सराहना करते हुए कहा कि संगीत के विद्यार्थियों की तरह अन्य सभी विषयों के विद्यार्थियों को संस्कारित होना चाहिए तभी हमारे संस्कार दीक्षा साप्ताहिक कार्यक्रम का उद्देश्य सार्थक सिद्ध होगा। इस अवसर पर दर्शन विभाग के अध्यक्ष प्रो राजेश मिश्रा, डॉ नंदिनी सिंह, संस्कृत विभाग की डॉ अनिता, डॉ दिनेश, अंग्रेजी विभाग की डॉ निशा सिंह, डॉ किरन, डॉ आरती इत्यादि शिक्षक उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संयोजन डॉ संगीता घोष के द्वारा किया गया। इस कार्यक्रम का सफल संचालन एवम धन्यवाद ज्ञापन डॉ आकांक्षी द्वारा किया गया।

Share this story