विश्व हिंदू परिषद के सेवा विभाग की नई पहल, काशी में खुलेगी 18 संस्कारशाला
विश्व हिंदू परिषद के सेवा विभाग की नई पहल, काशी में खुलेगी 18 संस्कारशाला

केंद्र व राज्य पदाधिकारियों की मौजूदगी में आचार्यों का तीन दिवसीय प्रशिक्षण संपन्न

वाराणसी। भारतीय संस्कृति , सनातन धर्म एवं प्राचीन परंपरा की विरासत को आगे बढ़ाने के लिए काशी में 18 संस्कारशाला इसी माह खुलने जा रही है। यहां 5 से 14 वर्ष तक के बच्चों को सनातन संस्कृति के साथ स्कूली शिक्षा नि:शुल्क दी जाएगी।  यह पुनीत कार्य विश्व हिंदू परिषद के सेवा विभाग द्वारा किया जाएगा। महमूरगंज स्थित श्रृंगेरी मठ में चल रहे "तीन दिवसीय संस्कारशाला आचार्य प्रशिक्षण शिविर" का समापन करते हुए विहिप उत्तर प्रदेश , उत्तराखंड के सेवा प्रमुख राधेश्याम द्विवेदी ने उक्त जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि नई खुलने वाली सभी संस्कारशालाओ की रचना कर ली गई है। तीन दिन चले प्रशिक्षण में 18 कुशल आचार्यों का चयन भी कर लिया गया है। खास बात यह है कि इसमें 17 महिलाएं और एक पुरुष हैं। काशी महानगर के सेवा प्रमुख विजय कृष्ण सिंह , सह सेवा प्रमुख सीमा सिंह ने बताया कि काशी के आशापुर में दो संस्कारशाला खुलेगी।

इसी तरह सारनाथ ,पांडेपुर ,नई बस्ती, सारंग तालाब ,आवास विकास कॉलोनी, भक्ति नगर ,अनौला, काशीराम आवास योजना (शिवपुर) के अलावा  चेतगंज व मिर्जामुराद के भोरकला (मनकैया) समेत तमाम इलाकों में संस्कारशाला इसी माह खुल जाएंगी। यहां 5 वर्ष से 14 वर्ष तक के बच्चों को सनातन संस्कृति का ज्ञान एवं स्कूली शिक्षा नि:शुल्क दिया जाएगा। प्रतिदिन 2 घंटे की क्लास चलेगी जिसमें बच्चों को रचनात्मक कार्यों के अलावा खेलकूद आदि के भी विषय रखे गए हैं।

विश्व हिंदू परिषद के सेवा विभाग की नई पहल, काशी में खुलेगी 18 संस्कारशाला

आचार्य पद्धति व मंत्र उच्चारण से संस्कारशाला की शुरुआत होगी। संस्कारशाला में भारत माता की आरती व राष्ट्रगीत भी होंगे। खास बात यह है कि इन संस्कार शालाओं को सेवा बस्ती व मलिन बस्ती के आसपास खोला जा रहा है ताकि स्कूली शिक्षा से महरूम बच्चों को फ़ायदा मिल सके। जो बच्चे स्कूल नहीं जा रहे उन्हें स्कूल जाने के लिए संस्कार शालाओं में प्रेरित भी किया जाएगा।

समापन सत्र को संबोधित करते हुए दिल्ली से पधारे विहिप के केन्द्रीय सेवा प्रमुख अजेय पारिख ने कहा कि काशी नगरी विद्वानों की उर्वरा भूमि रही है इन संस्कार शालाओं से निकलने वाले बच्चे आगे चलकर उद्भट विद्वान ही नहीं श्रेष्ठ भारतीय भी बनेंगे। सनातन धर्म एवं राष्ट्रीयता से ओतप्रोत ऐसे संस्कार शाला विहिप देश भर में चलाने जा रही है।

इस अवसर पर केन्द्रीय संगठन मंत्री गजेंद्र जी, काशी महानगर संगठन मंत्री चंदन जी, प्रचार प्रसार प्रमुख डाक्टर लोकनाथ पांडेय, धीरेंद्र सिंह, नितिन कुमार, डाक्टर अनिल कुमार सिंह, मीरा देवी, पूजा पांडेय, स्नेहलता पांडेय समेत तमाम लोग मौजूद रहे।

Share this story