International Workers' Day 2022: मजदूर दिवस के अवसर पर मनरेगा मजदूरों ने साल में 200 दिनों का मांगा काम
International Workers' Day Celebration

वाराणसी। मिर्जामुराद क्षेत्र अंतर्गत मजदूर दिवस पर मनरेगा मजदूर यूनियन से जुड़े मजदूरों ने चक्रपानपुर, रुपापुर, भोजपुर, प्रतापपुर, रखौना, खजूरी, बेनीपुर, हरपुर, गनेशपुर सहित लगभग 50 गाँवो में मजदूरों ने मजदूर दिवस मनाते हुए सरकार के सामने 6 सूत्रीय मांगे रखी। जिसमे साल में 200 दिनों का काम व 600 रुपये प्रतिदिन की मजदूरी।

प्रत्येक मनरेगा मजदूरों का स्वास्थ्य बीमा किया जाए।55 वर्ष से ऊपर के सभी मनरेगा मजदूरों को प्रतिमाह 3 हजार रुपये दिया जाए। सभी मनरेगा मजदूरों का राशन कार्ड बनाया जाए।समान शिक्षा लागू किया जाए।गरीबी रेखा तय किया जाए उक्त मांगों के साथ ,मजदूरों ने जुलूस,रैली,प्रदर्शन के माध्यम से अपनी बात कहा ।


  इस अवसर पर मनरेगा मजदूर यूनियन के संयोजक सुरेश राठौर ने कहा कि मजदूरों को अपने हक के लिए संघर्ष करना पड़ेगा ।दुनिया का सबसे बड़ा इमारत बनाने वाला मेहनत कश सड़कों पर सोने को बाध्य है ।आज एक तरफ दुनिया के सबसे अमीर व्यक्तियों के सूची में हमारे देश के पूंजीपति का नाम आ रहा है वहीं दूसरी तरफ आज भी देश का एक बड़ा तबका है जिसको दो वक्त की रोटी भी नही नसीब हो रहा है ।

जरूरत गरीबी रेखा तय करने का नही है बल्कि अमीरी की रेखा तय करने की आवश्यक्ता है ।कार्यक्रम में प्रमुख रूप से रेनू,श्रद्धा,मुश्तफ़ा,रीना,निशा,प्रियंका,नेहा,मंगरा,चंदा,कुसुम,बदामा,सरस्वती,सुदामा,कमला,पार्वती,सुशीला,देवी, फुलपत्ति सहित सैकड़ों मजदूर शामिल हुए।

Share this story