×
वाराणसी में दरोगा की हत्या का प्रयास और लूट के मामले में प्रभारी निरीक्षक रोहनिया विमल कुमार मिश्र समेत चौकी प्रभारी मोहनसराय रजनीश त्रिपाठी सस्पेंड
वाराणसी में दरोगा की हत्या का प्रयास और लूट के मामले में प्रभारी निरीक्षक रोहनिया विमल कुमार मिश्र समेत चौकी प्रभारी मोहनसराय रजनीश त्रिपाठी सस्पेंड 

संवाददाता- सुजीत सिंह 

वाराणसी। रोहनिया में दरोगा की हत्या का प्रयास और सरकारी पिस्टल लूटने की घटना का खुलासा 48 घंटे बीत जाने के बाद भी पुलिस नहीं कर सकी। जिससे नाराज पुलिस आयुक्त ए सतीश गणेश ने गुरुवार की रात प्रभारी निरीक्षक रोहनिया विमल कुमार मिश्रा और हल्के के दरोगा चौकी प्रभारी मोहनसराय रजनीश त्रिपाठी को सस्पेंड कर दिया।

इसके साथ ही घटना के खुलासे के लिए पुलिस कमिश्नर ने लालपुर पांडेयपुर इंस्पेक्टर उपेंद्र सिंह के नेतृत्व में दस तेजतर्रार उप निरीक्षकों की एसआईटी टीम गठित की है।वही लालपुर पांडेयपुर थाना प्रभारी के तौर पर पुलिस कमिश्नर ने इंस्पेक्टर परमहंस गुप्ता को तैनात किया है।लक्सा थाने में तैनात 2015 बैच के दरोगा अजय यादव मूल रूप से प्रतापगढ़ जिले के भीखमपुर गांव के रहने वाले हैं।

उन्होंने रोहनिया थाना के जगतपुर क्षेत्र में भूमि  क्रय कर वही मकान बनवा रहे हैं।बीते 9 नवंबर की शाम वर्दी पहने हुए अजय अपनी बुलेट से अपने क्रय की गयी भूमि पर जा रहे थे।जगतपुर नहर के पास मास्क लगाए हुए तीन बदमाशों ने उन्हें घेर कर रोक लिया, कहासुनी और गाली गलौज के साथ ही तीनों बदमाश अजय के साथ हाथापाई करने लगे।

दो बदमाशों को अजय ने दबोच लिया।इसी बीच तीसरे बदमाश ने उनकी कमर से पिस्टल निकालकर उनके सीने में दाई तरफ गोली मार दी। गोली मारने के साथ ही बदमाश अजय की पिस्टल, कारतूस ,पर्स और मोबाइल छीन लिए। इसके बाद असलहा लहराते हुए भाग निकले। बदमाशों की गोली से घायल दरोगा अजय पैदल ही भागते हुए, अस्पताल तक पहुंचे।

 डॉक्टर को बताया कि उन्हें गोली मारी गई है। इस पर आनन-फानन में उनका इलाज शुरू किया गया और ऑपरेशन कर गोली बाहर निकाली गई। फिलहाल व्यक्तिगत रंजीश,जमीन विवाद और भूमाफिया पर कार्रवाई को केंद्र में रखकर तफ्तीश की जा रही है। इलाके के तीन मनबड़ो को पुलिस ने हिरासत में लिया है।

एक बदमाश का हुलिया भी सीसी टीवी कैमरे में चिन्हित हुआ है।राजातालाब स्थित बाइक शोरूम पर दरोगा ने बाइक की मरम्मत कराई थी।  वहां से चले तो उनके पीछे बदमाश लग गए थे, ऐसा पुलिस की तफ्तीश में सामने आ रहा है। पुलिस आयुक्त ए सतीश गणेश ने बाइक शोरूम पहुंचकर छानबीन की और सीसीटीवी फुटेज को भी देखा।

पुलिस आयुक्त ने चेताया कि बदमाश हर हाल में गिरफ्तार होने चाहिए। घायल दरोगा की तहरीर पर रोहनिया थाने में तीन अज्ञात बदमाशों के खिलाफ हत्या के प्रयास व लूट समेत अन्य आरोपों में मुकदमा दर्ज किया गया है।

पुलिस कमिश्नर सतीश गणेश ने कहा कि यह घटना गंभीर किस्म की है।बदमाशों की धरपकड़ के लिए तेजतर्रार दस दरोगा और एक इंस्पेक्टर की एसआइटी टीम लगाकर सभी को अलग-अलग टास्क दिया गया है। बदमाश चिन्हित कर जल्द गिरफ्तार कर लिए जाएंगे।

Share this story