बनारस रेल इंजन कारखाना का इंजीनियर घूस लेते रंगे हाथ गिरफ्तार
बनारस रेल इंजन कारखाना का इंजीनियर घूस लेते रंगे हाथ गिरफ्तार

बनारस रेल इंजन कारखाना (BLW) के एक्सईएन ओम प्रकाश सोनकर को लखनऊ स्थित सीबीआई की विशेष अदालत में पेश किया जाएगा। ओम प्रकाश को शुक्रवार को तीन लाख रुपए घूस लेते हुए रंगेहाथ गिरफ्तार किया गया था। सीबीआई से एक ठेकेदार ने शिकायत की थी कि उसका बिल पास करने के लिए ओम प्रकाश तीन लाख रुपए घूस मांग रहा है।

शिकायत के आधार पर CBI ने मामला दर्ज कर ओम प्रकाश को फुलवरिया क्षेत्र की राणा नगर कॉलोनी स्थित उसके घर से घूस लेते हुए रंगेहाथ गिरफ्तार किया था। उधर, ओम प्रकाश की गिरफ्तारी के बाद बीएलडब्ल्यू प्रशासन ने उसे निलंबित कर उसके खिलाफ आंतरिक जांच बैठाई है।

सिविल कार्यों की थी जिम्मेदारी

सिविल इंजीनियर ओम प्रकाश सोनकर वर्ष 2019 में प्रमोशन पाकर बीएलडब्ल्यू में एक्सईएन के पद पर तैनात हुआ था। ओम प्रकाश सोनकर के पास बीएलडब्ल्यू में सड़क, नाली, सीवर और भवन निर्माण संबंधी काम की जिम्मेदारी थी।

बीएलडब्ल्यू स्थित कारखाने के समीप हुए निर्माण संबंधी काम का बिल पास करने के लिए वह ठेकेदार से तीन लाख रुपए घूस मांग रहा था। अब बीएलडब्ल्यू प्रशासन ओम प्रकाश सोनकर की देखरेख में हुए सभी काम की जांच कराएगा।

ऊंची राजनीतिक पहुंच है एक्सईएन की

बीएलडब्ल्यू से जुड़े सूत्रों ने बताया कि ओम प्रकाश सोनकर की ऊंची राजनीतिक पहुंच है। उसके खिलाफ पहले भी भ्रष्टाचार संबंधी आरोप लगते रहे हैं, लेकिन राजनीतिक पहुंच के कारण वह बचता रहा है।

ओम प्रकाश सोनकर के रिटायरमेंट में लगभग डेढ़ साल का समय बचा हुआ था। फिलहाल ओम प्रकाश की गिरफ्तारी के संबंध में कुछ भी कहने से उसके साथी कतरा रहे हैं।

वहीं, बीएलडब्ल्यू प्रशासन ने भी ओम प्रकाश को लेकर अभी कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

Share this story