पिता के संकल्प से बच्चों को बेहतर शिक्षा पाने में मिल रहा बल, दुकान की रोशनी में पढ़ाई करती दिखी बच्ची
पिता के संकल्प से बच्चों को बेहतर शिक्षा पाने में मिल रहा बल, दुकान की रोशनी में पढ़ाई करती दिखी बच्ची 

वाराणसी। आज के आधुनिक युग में बहुत से मां बाप है जो पैसे के अभाव में बच्चों को पढ़ा लिखा नहीं पाते लेकिन अगर मन में संकल्प और बच्चों को कुछ बनाने का जिद हो तो आप कुछ भी कर सकते हैं । और इसी जज्बे की तस्वीर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी का एक वीडियो सामने आया है जिसमें एक पिता जो आइसक्रीम की दुकान लगा हैं। और दुकान की रोशनी में उसकी बेटी पढ़ रही हैं।

अपने परिवार की जिम्मेदारी और पिता की खूबसूरत भूमिका निभाने वाले  राजेन्द्र प्रसाद शाह बिहार के रहने वाले हैं ‌।

राघवेन्द्र ने बताया कि वह आदिवासी समाज से है इस समाज में लड़कियों को पढ़ाया नहीं जाता लेकिन हम ने संकल्प लिया था कि हम अपने बेटियों को अच्छी शिक्षा देंगे और उसी संकल्प के साथ हम परिवार के साथ काशी आ गये । राघवेन्द्र के परिवार में उनकी पत्नी और घर संभालती है । और उनके पांच पुत्र - पुत्री हैं।

 

उनकी बड़ी पुत्री वंदना काशी हिंदू विश्वविद्यालय से पढ़ाई कर रही और छोटी बेटी पूर्णिमा देव नाथ बालिका इंटर कालेज में अपने पढ़ाई कर रही और साथ में पिता का मदद भी और उनके 3 पुत्र भी है वो पढ़ाई कर रहे ।

राघवेन्द्र ने बताया कि उन्हें इस बात की भी खुशी है कि हमारे सभी बच्चे पढ़ने लिखने में ठीक है और हम आइसक्रीम की दुकान लगाकर उन्हें पढ़ने में उनका पूरा मदद कर रहें हैं।

राघवेन्द्र की पुत्री जो दुकान पर मदद और पढ़ाई करती दिखी पूर्णिमा जो कक्षा 9 में उन्होंने कहा मुझे पापा का मदद करना अच्छा लगता है और पापा हमें पढ़ाते भी है । दुकान पर कभी हम कभी भाई आते हैं और उन्होंने की हम बड़े होकर सीए बनना चाहते हैं।

Share this story