वाराणसी में डिजिटल होगें बाबा, मोबाइल बनेगा गाइड, QR Code कराएगा दर्शन
kashi temple

वाराणसी। काशी विश्वनाथ धाम में अब हाईटेक बनने जा रहा है। नाथों के नाथ बाबा विश्वनाथ के भव्य और नव्य दरबार को अब हाईटेक टेक्नोलॉजी से जोड़ने का काम शुरू हो गया है। 

बाबा दरबार में घूमने आने वाले पर्यटकों को धाम में स्थित मंदिर और भवनों की जानकारियों के लिए टूरिस्ट गाइड की जरूरत नहीं होगी।

बल्कि विश्वनाथ धाम में आपका स्मार्ट फोन ही आपका टूरिस्ट गाइड बनेगा। इसके लिए मंदिर प्रशासन खास तरह का सॉफ्टवेयर तैयार करा रहा है। जिसके मदद से सिर्फ एक स्कैन पर सबकुछ जान पाएंगे।

काशी विश्वनाथ मंदिर के मुख्य कार्यपालक अधिकारी सुनील कुमार विश्वकर्मा ने बताया कि इस सॉफ्टवेयर की खास बात ये होगी कि जैसे ही श्रद्धालु बाबा धाम में आएंगे, उनका मोबाइल फोन ब्लूटूथ के जरिए इससे कनेक्ट हो जाएगा और फिर जैसे-जैसे कोई भवन या मन्दिर आएगा उसकी जानकारी ऑडियो माध्यम से मोबाइल फोन के जरिए श्रद्धालु जान सकेंगे।

उनके सुविधा के लिए हर भवनों पर क्यूआरकोड भी लगाया जाएगा, जिसे स्कैन करते ही सारी जानकारी और पता मिल जाएगी। इस एप को तैयार करने में 1 करोड़ 28 लाख रुपये लगेंगे।

नॉर्दन कोल इंडिया लिमिटेड के सीएसआर फंड से इस सॉफ्टवेयर को तैयार किया जाएगा, जिसमे करीब 2 महीनें का वक्त लगेगा। इसके लिए काशी विश्वनाथ मंदिर और नार्दन कोल इंडिया लिमिटेड के बीच एमओयू भी साइन हुआ है। 

इस सॉफ्टवेयर के तैयार होने के बाद यहां हर रोज आने वाले हजारों पर्यटकों को सीधे इसका फायदा मिलेगा। उन्हें बाबा के धाम को घूमने के लिए किसी गाइड की जरूरत नहीं होगी।

 इसके अलावा इस ऑडियो गाइड के जरिए वो धाम के बारे में सही-सही जानकारी प्राप्त कर सकेंगे।

 बताते चलें कि बाबा विश्वनाथ के धाम में 60 से अधिक ऐतिहासिक मन्दिर है। इसके अलावा दो म्यूजियम और कई खास भवन यहां स्थापित है, जिसका इतिहास अपने आप में अनूठा है।

Share this story