महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ में हर घर तिरंगा अभियान को लेकर जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन
महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ में हर घर तिरंगा अभियान को लेकर जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन

वाराणसी। राष्ट्रीय सेवा योजना एवं मनोविज्ञान विभाग, महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ, वाराणसी के संयुक्त तत्वावधान में भारत सरकार के आज़ादी के अमृत महोत्सव व हर घर तिरंगा के भागीरथ अभियान के अंतर्गत 'भारत छोड़ो आंदोलन (8 अगस्त 1942) का स्वतंत्रता में योगदान' विषय पर दिनांक 6 अगस्त 2022 को मनोविज्ञान विभाग में जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की भूमिका एवं स्वागत भाषण मनोविज्ञान विभाग के सहायक आचार्य एवं राष्ट्रीय सेवा योजना के कार्यक्रम अधिकारी डॉ. दुर्गेश कुमार उपाध्याय द्वारा किया गया।

मुख्य अतिथि के रूप में मनोविज्ञान विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ. रश्मि सिंह ने भारत छोड़ो आंदोलन के प्रखर स्वरूप को परिभाषित किया और एक मधुर देशभक्ति गीत की प्रस्तुति दी जिससे उन्होंने सभी छात्र-छात्राओं को भावविभोर कर दिया । राष्ट्रीय सेवा योजना के समन्वयक एवं समाज कार्य विभाग के सहायक आचार्य डॉ. के. के. सिंह ने 1942 के भारत छोड़ो आंदोलन में गांधीजी के योगदान तथा आंदोलन की पृष्ठभूमि एवं उद्देश्यों के बारे में विद्यार्थियों को अवगत कराया। डॉ. सिंह ने एक सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो के माध्यम से देशभक्ति की भावना को वर्णित किया जिससे हम सभी भारतीय प्रेरणा ले सकते हैं।

इस आयोजन में कुल 10 छात्र-छात्राओं ने भारत छोड़ो आंदोलन से संबंधित नारे, कविताएं एवं देशभक्ति गीतों की प्रस्तुति दी। कार्यक्रम का संचालन स्नातकोत्तर द्वितीय सेमेस्टर की छात्राएं इवा सेठ एवं श्रुति गुप्ता ने किया । धन्यवाद ज्ञापन मनोविज्ञान विभाग के सहायक आचार्य एवं राष्ट्रीय सेवा योजना के कार्यक्रम अधिकारी डॉ. मुकेश कुमार पंथ द्वारा किया गया। डॉ. दुर्गेश द्वारा कार्यक्रम के अंत में एक देश भक्ति गीत - अब तुम्हारे हवाले वतन साथियों... प्रस्तुत किया गया जो विद्यार्थियों के लिए मार्मिक दृश्य की प्रस्तुति करने वाला रहा।

सभी छात्रों ने भारत को विश्व गुरु बनाने के लिए माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के आवाहन 'करेंगे और करके ही छोड़ेंगे' के साथ जुड़ने हेतु संकल्प लिया। इस पूरे आयोजन के संचालनकर्ता एवं प्रभारी डॉ. दुर्गेश कुमार उपाध्याय एवं डॉ. मुकेश कुमार पंथ थे। मनोविज्ञान विभाग के प्राध्यापक डॉ. दीपमाला सिंह बघेल, डॉ. संतोष कुमार सिंह, डॉ. रश्मि रानी, डॉ. कंचन शुक्ला, सभी कर्मचारी गण तथा स्नातक एवं स्नातकोत्तर के सभी छात्र-छात्राओं के योगदान से यह कार्यक्रम सफलतापूर्वक संपन्न हुआ।

Share this story