वाराणसी जिला कोर्ट में अजय देवगन एवं सिद्धार्थ मल्होत्रा के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के लिए अर्जी, कोर्ट ने वाराणसी पुलिस से मांगा जवाब!
वाराणसी जिला कोर्ट में अजय देवगन एवं सिद्धार्थ मल्होत्रा के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के लिए अर्जी। कोर्ट ने वाराणसी पुलिस मांगा जवाब!

बॉलीवुड फिल्म थैंक गॉड के ट्रेलर में भगवान चित्रगुप्त का मजाक उड़ाया गया है। इसके चलते असंख्य सनातन हिंदू धर्मियों की भावना आहत हुई है। इसलिए फिल्म के एक्टर अजय देवगन और सिद्धार्थ मल्होत्रा सहित पूरी टीम के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने का आदेश देकर उन्हें दंडित किया जाए। यह एप्लिकेशन अदालत में भाजपा विधि प्रकोष्ठ के संयोजक एडवोकेट शशांक शेखर त्रिपाठी ने दाखिल की है।

 

एप्लिकेशन को प्रकीर्ण वाद के रूप में दर्ज करते हुए सीजेएम विजय कुमार विश्वकर्मा की कोर्ट ने कैंट थाने से 21 सितंबर को रिपोर्ट तलब की है। 

 

ट्रेलर में फूहड़ शब्दों का प्रयोग हुआ है

एडवोकेट शशांक शेखर त्रिपाठी ने कहा कि एक्टर अजय देवगन को भगवान चित्रगुप्त के रोल में प्रदर्शित करते हुए फिल्म थैंक गॉड का ट्रेलर रिलीज किया गया है। फिल्म के ट्रेलर में अजय देवगन आधुनिक पोशाक पहन कर भगवान चित्रगुप्त बने हुए दिख रहे हैं। फिल्म के ट्रेलर में एक्टर सिद्धार्थ मल्होत्रा का एक्सीडेंट होने के बाद उनके कर्मों का हिसाब-किताब चित्रगुप्त भगवान के दरबार में होता है।

अजय देवगन स्वयं को भगवान चित्रगुप्त बताते हुए घटिया जोक्स और आपत्तिजनक शब्दों का प्रयोग कर रहे हैं। ट्रेलर में फूहड़ शब्दों का प्रयोग करते हुए भगवान चित्रगुप्त को प्रस्तुत किया गया है। 

धार्मिक भावना आहत होने से अप्रिय स्थिति पैदा होगी

एडवोकेट शशांक शेखर त्रिपाठी ने कहा कि फिल्म का ट्रेलर बीती 9 सितंबर को कचहरी स्थित अपने चैंबर में उन्होंने सोशल मीडिया पर देखा था। उन्होंने कोर्ट से अनुरोध किया है कि आरोपियों के खिलाफ समुचित धाराओं में मुकदमा दर्ज हो। भगवान चित्रगुप्त को कर्म का देवता माना जाता है। वह एक आदमी के अच्छे और बुरे कर्मों का रिकॉर्ड रखते है।

देवताओं का ऐसा चित्रण करने से लोगों की धार्मिक भावना आहत होगी और उसके चलते समाज मे अप्रिय स्थिति पैदा हो सकती है।

Share this story