यूपी चुनाव 2022: सपा-रालोद गठबंधन के ऐलान पर लगा ब्रेक, सीटों के बंटवारे को लेकर नहीं बनी सहमति
वीवीवी

उत्तर प्रदेश।  आगामी यूपी विधानसभा चुनाव के लिए समाजवादी पार्टी और रालोद  के बीच गठबंधन  पर ब्रेक लगता हुआ नजर आ रहा है। सूत्रों के मुताबिक सपा प्रमुख अखिलेश यादव और जयंत चौधरी  के बीच रविवार को होने वाली ज्वाइंट प्रेस कॉन्फेंस कल नहीं होगी। 

सपा और राष्ट्रीय लोक दल के बीच सीट बंटवारे को लेकर बात अटकी है।  दोनों दलों में सीटों को लेकर खींचतान चल रही है।  सात सीटें ऐसी हैं, जिनपर दोनों ही दल दावा ठोक रहे हैं। आरएलडी कितनी सीटों पर लड़ेगी, इसे लेकर भी सहमति नहीं बन पा रही है।  हालांकि, सीटों को लेकर चल रही खींचतान के बीच दोनों दलों के शीर्ष नेता गठबंधन को लेकर सकारात्मक हैं। सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव और आरएलडी चीफ जयंत चौधरी, दोनों ने ही ये साफ किया है कि जल्द ही गठबंधन होगा। दोनों दल एक-दूसरे के साथ चुनावी रणभूमि में जाएंगे। पहले ये कहा जा रहा था कि 21 नवंबर को सपा और आरएलडी के बीच गठबंधन का ऐलान हो सकता है। अब दोनों दलों की ओर से ये कहा जा रहा है कि इस महीने के अंत तक गठबंधन का ऐलान हो जाएगा। 

जयंत चौधरी 50 विधानसभा सीटें मांग रहे हैं।  सपा, आरएलडी को 28 से 30 सीटें देने के लिए तैयार है। कांग्रेस की ओर से भी जयंत चौधरी को लगातार ऑफर मिल रहा है।  कांग्रेस के अलावा बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की ओर से भी गठबंधन के लिए डोरे डाले जा रहे हैं।  हालांकि, जयंत चौधरी और अखिलेश यादव ये ऐलान कर चुके हैं कि आरएलडी और सपा चुनाव मैदान में साथ जाएंगे। 

यूपी चुनाव से पहले विपक्षी दल ही नहीं, सत्ताधारी दल की ओर से भी जयंत चौधरी को साथ लाने की कोशिशों की चर्चा है। चर्चा ये भी है कि बीजेपी का भी एक धड़ा जयंत की पार्टी के साथ गठबंधन चाहता है।  तीन कृषि कानूनों की वापसी के बाद बीजेपी की कोशिश अब जयंत को साथ लाने की है।  गृह मंत्री अमित शाह को पश्चिमी यूपी का प्रभारी बनाए जाने के बाद भी इस चर्चा को और बल मिला है। 

Share this story