यूपी में प्रशासन की कारगुजारी से अवैध खनन का जमकर खेला जा रहा खेल
थानेदार के सिपहसलार के कंधे पर होती है अवैध खनन की जिम्मेदारी -वही खनन का उठाते है बीड़ा

थानेदार के सिपहसलार के कंधे पर होती है अवैध खनन की जिम्मेदारी -वही खनन का उठाते है बीड़ा

सहजनवा गोरखपुर। अवैध खनन रोकने के लिए प्रशासन कितने भी हाथ पैर मार ले । लेकिन जिमेदारो और खनन माफियाओ के मिली भगत से प्रशासन के मंसूबे पर पानी फिर रहा है। सहजनवा तहसील क्षेत्र के सहजनवा, गीडा, हरपुर बुदहट थाना क्षेत्र में चाहे दिन हो या रात खनन माफियाओं की चांदी है।सड़क पर मिट्टी लदे फर्राटे भर रहे वाहन से पुलिस कर्मियों और पीआरबी से कोई वास्ता नही। थाने से सेटिंग होने से खनन माफिया जमकर अवैध खनन का खेल खेलते है। क्यों कि थानेदार के सिपहसलार का हाथ उन माफियों के सिर पर होता है।


हरपुर बुदहट, गीडा, सहजनवा थाना क्षेत्र में खनन माफियाओं और थानेदार के सिपहसलार द्वारा सेटिंग कराई जाती है। जिसका एक दिन और रात का रेट तय होता है। वह भी थानेदार के सिपहसलार को नकद भुगतान खनन माफियाओं को करना पड़ता है। कुछ ऐसे भी खनन माफिया होते है। महीने की मोटी रकम देकर बिंदास खनन कराकर चांदी कांटे है। वही सूबे के मुखिया के आदेश का भी पुलिस और स्थानीय प्रशासन मंसूबे पर पानी फेर रहे है।


हरपुर बुदहट थाना क्षेत्र में 
कटाई टिकर, पकड़ी, रेवडा,रघुनाथपुर, देवरिया, पचौरी,  भेउसा,सहीजना, मिया पकड़ी, विगही, अतरौला, गांव के सिवान में खनन माफियाओं की चांदी है।


गीडा थाना क्षेत्र में
कालेसर ,औद्योगिक विकास प्राधिकरण गीडा, बसुधा,बॉसपार,बड़गहन,छपिया कुरमौल, मल्हीपुर, उसका खरैला झुगिया, अदिलापर  बोकटा गहसाड, सहित अनेक गांव चिन्हित है। जहां खनन माफिया चांदी काट रहे है।


सहजनवा थाना क्षेत्र में
भीटी रावत महदेईया,सीहापार,तेनुहारी, मुण्डा, केशवपुर वसिया,चाँदवारी ऑडवलिया, घघसरा नेवास, डुमरी जाल्हेपार, पाली माड़र, चरड़ाव भक्सा, सीसई सहित अनेक गांवों में रात होते ही पुलिस संरक्षण में अवैध खनन जारी होता है।

सीओ कम्पियरगंज अजय कुमार सिंह ने कहा कि यदि पुलिस सूचना के बाद कोई कार्रवाई नही करती है तो उस सम्बंध में मुझे जानकारी दे। कार्रवाई निश्चित की जायेगी उपजिलाधिकारी सहजनवा सुरेश राय ने कहा कि पुलिस का सहयोग नही मिलने से खनन माफियाओ का मनोबल बढ़ा हुआ है। मामला संज्ञान में है। जल्द ही खनन माफियाओं पर कार्रवाई की जायेगी
 

Share this story