ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन का प्रतिनिधि मंडल मिला एसएसपी से किया कार्यवाही की मांग
ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन का प्रतिनिधि मंडल मिला एसएसपी से किया कार्यवाही की मांग

गोरखपुर। कुछ ऐसे भी लोग है जो शिक्षा के नाम पर लोगो बच्चों के साथ ही साथ परिजनों का भी शोषण कर रहे है जिस पर कही न कही प्रशासन के लोग भी उनको सह देते है। 
जी हा आपको बता दे कि गोरखपुर जिले के  चिलुआताल थाना क्षेत्र के मजनू चौराहा चौकी अंतर्गत स्थित एक आदर्श बाल विद्या मंदिर जूनियर हाईस्कूल का एक छात्र स्कूल प्रबंध समिति से परेशान होकर सुसाइड नोट लिख कर अपने घर मे फाँसी लगाकर आत्महत्या कर लिया था। सुसाइड नोट के आधार पर वह और उसके छोटे भाई को स्कूल में मानसिक एवं शारीरिक रूप से प्रताड़ित किया जाता था जिससे तंग होकर त्रिपुरारी पांडेय के बड़े बेटे शिवम पांडेय ने आत्महत्या करने का मन बनाया।

मृतक शिवम पांडे के द्वारा लिखे गए सुसाइड नोट के अनुसार प्रबंधक जंगी शर्मा, प्रधानाचार्य बालकिशन यादव, एवम कक्षा अध्यापिका गोल्डी सिंह इसके कसूरवार है। इस मामले में छानबीन करती पुलिसकर्मी ने प्रबंधक जंगी शर्मा को आत्महत्या के अगले दिन   गिरफ्तार कर लिया। मगर पुलिस प्रशासन पर दबाव के कारण प्रधानाचार्य बालकिशन यादव एवं कक्षा अध्यापिका गोल्डी सिंह की गिरफ्तारी नहीं हुई ।

जब इसके बारे में ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन के लोगो की हुई तो तहसील इकाई सहजनवा के अध्यक्ष हरिगोबिन्द चौबे,संगठन मंत्री अश्वनी कुमार, महामंत्री प्रधान प्रवासी,उपाध्यक्ष अशोक चौधरी और सदर तहसील से अध्यक्ष पंकज पांडेय और जिले के कई पत्रकार मृतक शिवम पांडे के पिता त्रिपुरारी पांडे के साथ एसएसपी कार्यालय पर पहुचकर अपने बच्चे के मौत के जिम्मेदार लोगों के ऊपर कार्यवाही की मांग किया। जिस पर एसएसपी ने सारी बातों को सुनकर मृतक के परिजन और पत्रकार भाईयो को ये आश्वासन भी दिया कि इसकी जांच हम एसपी नार्थ जी से करवा कर उचित कार्यवाही करते है आप लोगो के साथ न्याय किया जाएगा।
 

Share this story