अयोध्या में विरांगना उदा देवी पासी सामाजिक चेतना सम्मेलन कर मनाया गया बलिदान दिवस
अयोध्या में विरांगना उदा देवी पासी सामाजिक चेतना सम्मेलन कर मनाया गया बलिदान दिवस
वीरांगना ऊदा देवी की देशभक्ति को किया याद
 


भेलसर(अयोध्या) | वीरांगना ऊदा देवी पासी का शहीद दिवस रुदौली विधानसभा क्षेत्र के नेवाजपुर नहर कोठी में मंगलवार को बलिदान दिवस के रूप में मनाया गया।इसमें ऊदा देवी व उनके पति मक्का पासी की वीरता पर प्रकाश डाला गया।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि रूदौली विधायक राम चन्द्र यादव मौजूद रहे।कार्यक्रम की अध्यक्षता धमसादीन पासी(सेवानिवृत्त अध्यापक)ने किया।इस मौके पर राम देव पासी ने कहा कि वीरांगना ऊदा देवी पासी व उनके पति मक्का पासी ने देश को आजादी दिलाने के लिए विशेष योगदान दिया था।उन्होंने अंग्रेजों से लोहा लेकर उनके छक्के छुड़ा दिए थे।

मुख्य अतिथि के रुप मे मौजूद क्षेत्रीय विधायक राम चन्द्र यादव ने विरांगना उदा देवी पासी के जीवनकाल पर प्रकाश डालते हुए कहा कि वीरांगना उदा देवी का जन्म लखनऊ के उजरियाव गांव में हुआ था।उनकी शादी लखनऊ के ही उदय गांव निवासी मक्का पासी संग हुई थी।मक्का पासी वाजिद अली शाह की शाही सेना में हवलदार थे। 10 जून 1857 को अंग्रेजों के साथ हुए युद्ध में मक्का पासी शहीद हो गए थे।1857 की प्रथम स्वतंत्रता की लड़ाई लखनऊ में बेगम हजरत महल ने संभाली थी।उसी बटालियन में महिला बटालियन की प्रमुख वीरांगना उदा देवी थी।

16 नवंबर 1857 में सिकंदराबाग लखनऊ में अंग्रेजों संग हुए युद्ध में वीरांगना उदा देवी शहीद हो गई थीं।इस अवसर पर पूर्व जिला पंचायत सदस्य जग प्रसाद पासी,भाजपा नेता निर्मल शर्मा,पूर्व ब्लाक प्रमुख कमलेश यादव,तेज तिवारी,दीप चंद्र यादव,मंडल अध्यक्ष संतोष मिश्रा,अरविन्द कुमार शास्त्री,मनीराम शास्त्री,रोमी पासी,औहरवा दीन पासी,राम मिलन रावत,राधेश्याम प्रधान,भारत पासी,मायाराम पासी,जगन्नाथ रावत,विनय रावत,ननकू पासी सहित सैकड़ों लोगों ने माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित की।

Share this story