ग्राम प्रधान को रायबरेली डीसी मनरेगा ने जमकर लगाई फटकार
ग्राम प्रधान को रायबरेली डीसी मनरेगा ने जमकर लगाई फटकार
पहरेमऊ ग्राम प्रधान द्वारा जमकर किया गया भ्रष्टाचार जांच में खुली भ्रष्टाचार की पोल

रायबरेली। योगी सरकार में पहरेमऊ ग्राम प्रधान सावित्री देवी द्वारा जमकर किया गया भ्रष्टाचार जांच में खुली भ्रष्टाचार की पोल।

बताते चलें बुधवार को डीसी मनरेगा जांच करने पहुंचे थे तभी जांच के दौरान परत दर परत भ्रष्टाचार की पोल खुल गई। अमावां विकासखण्ड के पहरेमऊ ग्राम पंचायत में तब हड़कंप मच गया जब जांच करने पहुंचे डीसी मनरेगा।

जांच के दौरान खुल गई भ्रष्टाचार की पोल। डीसी मनरेगा ने जमकर लगाई फटकार। इससे पहले डीएम ने जांच के दौरान पकड़ा था पहरेमऊ में भ्रष्टाचार दिये थे सख्त निर्देश।

वहीं अपर आयुक्त (मनरेगा) ने दिए थे जांच के आदेश, मनरेगा में घोटाले का आरोप की बात सामने आयी थी जिसकी शिकायत ग्रामीणों में किया था।

वित्तीय वर्ष 2021-22 में मनरेगा के तहत ग्राम पंचायत में कराए गए विकास कार्यों में जमकर धांधली का आरोप लगा था। अपर आयुक्त (मनरेगा) ने मुख्य विकास अधिकारी को जांच कर एक सप्ताह में रिपोर्ट भेजने के दिए निर्देश दिये थे।


सीडीओ प्रभाष कुमार ने प्रकरण की जांच करा कर गड़बड़ी मिलने पर दोषियों पर कार्यवाही भी होगी की बात कही थी। जिसके बाद जांच डीसी मनरेगा को मिली अमृत सरोवर तालाब में कटीली तार व इंटर लॉकिंग, गेट मानक के विपरीत मिलने पर जमकर लगाई फटकार।

पूरे दलजीत सिंह का पुरवा मजरे पहरेमऊ में दो ट्राली ईंट प्रधान सावित्री देवी व प्रधान प्रतिनिधि राम किशोर यादव की मिलीभगत से बेंच देने के मामलें में डीसी ने दिखाई नाराजगी।

एक सप्ताह के अंदर खड़ंजा लगाने का दिया सख्त निर्देश नहीं तो होगी कार्यवाही। अब देखना दिलचस्प होगा  डीसी मनरेगा के सामने भी भ्रष्टाचार की पोल खुल गई है आखिर क्या कार्यवाही होती है।

वहीं दलजीत सिंह का पुरवा में एक सप्ताह के अंदर खड़ंजा लगाने व अमृत सरोवर तालाब में किये गए कार्य को सही करने के सख्त निर्देश दिया है।

मौजूद ग्रामीणों ने हांथ खड़े कर दिखाई नाराजगी कहा पहरेमऊ ग्राम पंचायत में जमकर भ्रष्टाचार किया जा रहा मनरेगा में फर्जी हजारी लगाई जा रही है और मनरेगा के तहत जमकर भ्रटाचार किया गया है जिसकी पोल खुल गई है अब अधिकारियों की बारी है ऐसे भ्रष्ट लोगों पर कार्यवाही करने की।

Share this story