वाराणसी के दशाश्वमेध घाट स्थित गंगा सेवा निधि कार्यालय में हुई पत्रकार वार्ता
वाराणसी के दशाश्वमेध घाट स्थित गंगा सेवा निधि कार्यालय में हुई पत्रकार वार्ता |

वाराणसी। दशाश्वमेध घाट स्थित गंगा सेवा निधि कार्यालय में आयोजित पत्रकार वार्ता के दौरान संस्था के श्री सुशान्त मिश्र ने पत्रकारों को कार्यक्रम की विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि अनवरत तीन दशक से भी ज्यादा समय से आध्यात्मिकता और राष्ट्रवाद को संकल्पित व समर्पित विश्व प्रसिद्ध भव्य देव दीपावली महोत्सव इस वर्ष भी राष्ट्र के अगर वीर योद्धाओं को समर्पित रहेगी। साथ ही साथ वर्षों से चली आ रही एक संकल्प गंगा किनारे के माध्यम से माँ गंगा को स्वच्छ एवं निर्मल बनाने, पर्यावरण व जल संरक्षण के लिए गंगा सेवा निधि द्वारा देव दीपावली महोत्सव में देश-विदेश से आये हुए लाखों श्रद्धालुओं व पर्यटकों से माँ गंगा के तट पर संकल्प दिलाकर संस्था द्वारा यह आवाहन किया जायेगा कि माँ गंगा को स्वच्छ और निर्मल बनाये रखने में आप सभी अपना योगदान दें. गंगा सेवा निधि परिवार का माँ गंगा को निर्मल रखने में सहयोग।

अपने स्वजनों की स्मृति में आकाशदीप की परिकल्पना के साथ देश भक्ति को आज से दो दशक काल पूर्व अर्थात 1999 कारगिल युद्ध विजय के उपलक्ष्य में हमनें अगर शहीदों के पुण्य स्मृति में आकाशदीप संकल का विस्तारीकरण एवं राष्ट्रीय रूप दिया था संस्था द्वारा भारत के अमर वीर योद्धाओं की स्मृति में सम्पूर्ण कार्तिक मास आकाश दीप जलाया जाता है, गंगा सेवा निधि द्वारा आयोजित आध्यात्मिकता और राष्ट्रवाद को समर्पित भव्य देव दीपावली महोत्सव के साथ ही आकाशदीप का समापन किया जाता है तथा भारत के अमर वीर योद्धाओं को "भगीरथ शौर्य सम्मान से सम्मानित भी किया जाता है। काशी में सदियों सदियों से गंगा घाटों पर अपने पूर्वजों की स्मृति में उनके स्वर्ग लोक की यात्रा के मार्ग को आलोकित करने के लिए आकाश-दीप जलाने की परम्परा रही है।

आकाश-दीप से जुड़े कथानकों में ऐसी मान्यता है कि महाभारत युद्ध में प्राण विसर्जित करने वाले वीरो की स्मृति में भीष्म ने कार्तिक मास में दीप मालिकाओं से उन्हें संन्तर्पण दिया था। यह महोत्सव दिनांक 19 नवम्बर, 2021. शुक्रवार, सायंकाल 5:20 बजे वृहद रूप में दशाश्वमेध घाट पर आयोजित किया जायेगा।

माँ गंगा की महा आरती में दिखेगी नारी शक्ति की झलक देव दीपावली पर माँ गंगा की महाआरती में नारी शक्ति की एक अदभुत तस्वीर भी देखने को मिलेगी। इस वर्ष भव्य देव दीपावली के अवसर पर आयोजित होने वाली भव्य महाआरती का प्रारम्भ 51 देव कन्याओं द्वारा किया जाता है।

कार्यक्रम का प्रारम्भ अतिथिवृन्द द्वारा गंगा सेवा निधि के संस्थापक स्मृतिशेष पं. सत्येन्द्र मिश्र को पुष्पांजलि अर्पित करके होगा। तत्पश्चात प्रो० रेवती साकलकर द्वारा गणपति वंदना व देश भक्ति गीतों की प्रस्तुति की जायेगी। गंगा सेवा निधि द्वारा बनाये गये इंडिया गेट व अमर जवान ज्योति की अनुकृति पर संस्था के कोषाध्यक्ष श्री आशीष तिवारी द्वारा संस्था की तरफ से रिथ लेईंग की जायगी। तत्पश्चात ब्रिगेडियर हुकुम सिंह बैंसला एसएम, कमॉडेण्ट, 39 जी.टी. सी. वाराणसी, एयर कमाडोर अनुज गुप्ता विएसएम एयर ऑफिसर कमॉडिंग, 4 वायु सेना प्रवरण बोर्ड, वाराणसी,

Share this story