प्रियंका की हुंकार से दहशत में विपक्ष, वाराणसी आ रहे पीएम मोदी
pm modi

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  25 अक्टूबर को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी (Varanasi) आ रहे हैं। इस मौके पर प्रधानमंत्री दीपावली से पहले ही अपने संसदीय क्षेत्र के लोगों को करोड़ों की योजनाओं का तोहफा देंगे। यही नहीं पीएम मोदी यहां रिंग रोड का शुभारंभ करेंगे और रिंग रोड के किनारे ही एक बड़ी जनसभा को संबोधित भी करेंगे। यहीं पर पीएम नरेंद्र मोदी प्रबुद्ध लोगों से संवाद भी करेंगे यानी सौगात संग संवाद के जरिए पीएम नरेंद्र मोदी अपनी काशी के लोगों के साथ जुड़ेंगे। फिलहाल अभी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम का प्रोटोकॉल नहीं आया है लेकिन दौरे की संभावित तारीख को देखते हुए प्रशासन और संगठन ने तैयारी शुरू कर दी है।

माना जा रहा है कि इस साल गोद लिए गांव परमपुर में पीएम की जनसभा हो सकती है। हालांकि परमपुर के अलावा संदहा और भड़ाव को भी विकल्प के रूप में रखा गया है। तीनों ही गांव रिंग रोड के किनारे हैं और रोहनिया विधानसभा क्षेत्र में आते हैं। प्रधानमंत्री के कार्यक्रम के लिए भाजपा संगठन के साथ जिला प्रशासन ने तीनों ही संभावित जनसभा स्थल का मौका मुआयना किया है। वहां पर पार्किंग समेत अन्य जरूरी जनसभा की जरूरतों को तलाशा गया।

5000 करोड़ की परियोजनाओं की सौगात देंगे PM

प्रधानमंत्री इस बार वाराणसी आएंगे तो लगभग 5000 करोड़ रुपए की लगभग 3 दर्जन परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास करेंगे। मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल ने अफसरों से कहा है कि लोकार्पण सिर्फ उन्हीं परियोजनाओं का होगा जो 100 प्रतिशत पूरी हो चुकी है और उनकी गुणवत्ता परख ली गई हो। जिला प्रशासन के अधिकारियों ने बताया कि शनिवार तक लोकार्पण और शिलान्यास होने वाली परियोजनाओं को चेक कर उसकी सूची को अंतिम रूप दे दिया जाएगा। प्रधानमंत्री को लोकार्पण और शिलान्यास करना है, इसलिए प्रत्येक स्तर पर अतिरिक्त सतर्कता बरती जा रही है। सभी को स्पष्ट निर्देश है कि किसी भी स्तर पर ऐसी चूक न हो जो बाद में किरकिरी का कारण बने।


प्रियंका से बड़ी सभा कर देना है बड़ा संदेश

10 अक्टूबर को जगतपुर इंटर कॉलेज के खेल मैदान में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा की रैली इन दिनों वाराणसी में कांग्रेसियों के साथ ही विपक्षी दलों के बीच भी चर्चा का विषय बनी हुई है। भाजपा के पदाधिकारियों का कहना है कि ऐसी भीड़ इस बार जुटाई जाएगी कि प्रधानमंत्री की सभा ऐतिहासिक होगी। इसी बहाने विधानसभा चुनाव की तैयारियों के लिए एक अच्छा माहौल भी बनेगा।

इसलिए संगठन से जुड़े सभी लोगों को जीजान से जुट जाने के लिए अभी से ही कह दिया गया है। पूरा फोकस इस बात पर है कि अपने संसदीय क्षेत्र में प्रधानमंत्री इस बार आएं तो उनकी सभा में एक लाख से ज्यादा लोग मौजूद रहें।

Share this story