विकास खण्डो मे संचालित अस्थाई आश्रय स्थलो में गाय के गोबर से निर्मित विभिन्न उत्पादो पर प्रशिक्षण कार्यशाला आयोजन
विकास खण्डो मे संचालित अस्थाई आश्रय स्थलो में गाय के गोबर से निर्मित विभिन्न उत्पादो पर प्रशिक्षण कार्यशाला आयोजन

मिर्जापुर। जिलाधिकारी प्रवीण कुमार लक्षकार के निर्देश के अनुपालन में जनपद के समस्त विकास खण्ड में संचालित अस्थाई आश्रय स्थलों के ग्राम राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन द्वारा समालित स्वयं सहायता समूह की महिला सदस्यों को आज दिनांक 05.06.2022 से 07.05.2022 तक गाय के गोबर से निर्मित विभिन्न उत्पादों पर तीन दिनसीय शिक्षण कार्यशाला का आयोजन किया गया। प्रशिक्षक के रूप में विशेषज्ञ कुमार (शामली से) द्वारा प्रशिक्षण दिया गया, जिसमे समझा विकास खण्डो से 12 महिला सदस्यों द्वारा प्रतिभाग किया गया। विकास खण्ड लालगंज के बागी गोवश आश्रयस्थल 06 महिला सदस्य एव आश्रय स्थल से 02-02 महिला सदस्यों द्वारा प्रतिभाग किया गया।

प्रशिक्षण कार्यशाला के दौरान मुख्य विकास अधिकारी श्रीलक्ष्मी वीएस द्वारा प्रशिक्षक केश कुमार से गाय के सेन बनाने जैसे- गावर से गला, दिनक, मुर्तिया, धूप बत्ती गांवर से इंट बना गोनर सेट लकड़ी बनाना, गोबर की प्रकृति -रखान एवं निर्मित उत्पाद को बाजार में कैसे गारकंटिन करे एवं डिजाइन और पैकिंग के बारे में दिया गया, जिससे कैसे गौशाला को आत्मनिर्भर एवं समूह की महिलाओं को रोजगार से जोड़ा जाय।

प्रशिक्षण कार्यशाला में 12 विकास खण्ड की 18 ग्राम पंचायतों की 42 महिला सदस्यों द्वारा प्रतिगान किया गया। प्रशिक्षण के दौरान मुख्य विकास अधिकारी महोदया, उपायुक्त (स्वतरू रोजना) खण्ड निकास अधिकारी नगर सिटी, जिला मिशन बन्धक महिला ग्राम विकास अधिकारी, खण्ड मिशन प्रबन्धक आदि उपस्थित रहें।

मुख्य विकास अधिकारी द्वारा महिलाओं का उत्साह वर्धन किया गया एवं एक-एक महिला सदस्यों से उत्पाद बनाने को कहा गया, जिससे महिलाओं द्वारा अलग-अलग बना कर मुख्य विकास अधिकारी महोदया को दिखाया गया इस कार्य के लिए महिलाओं को मुख्य विकास अधिकारी महोदया द्वारा सराहा गया और कहा गया कि आप सब मन लगाकर प्रशिक्षण ले और इस कार्य को अन्य दीदी को भी अपने से प्रशिक्षण देन और एक टीम बनाकर व्यापक स्तर पर करें जिससे आपको आर्थिक स्थिति में सुधार हो एन आप सन आत्म निर्भर तथा हम सब महिला भारत की आत्म निर्भर सकलाना को साकार करें।

Share this story