नाबालिग छात्रा ने लगाया पिता समेत सपा-बसपा के जिलाध्यक्षों पर रेप का आऱोप
नाबालिग छात्रा ने लगाया पिता समेत सपा-बसपा के जिलाध्यक्षों पर रेप का आऱोप

उत्तर प्रदेश के ललितपुर जिले से शर्मसार कर देने वाली खबर सामने आई है। कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत एक मोहल्ला निवासी किशोरी से छह वर्षों तक दुष्कर्म किए जाने का मामला प्रकाश में आया है। किशोरी ने पिता, चाचा, ताऊ, सपा, बसपा के जिलाध्यक्ष के अलावा शहर के संभ्रांत लोगों पर दुष्कर्म का आरोप लगाया है। पुलिस ने 25 नामजद समेत 28 लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है।

17 वर्षीय किशोरी ने कोतवाली पुलिस को तहरीर देकर बताया कि उसके साथ सबसे पहले दुष्कर्म तब हुआ जब वह कक्षा छह में पढ़ती थी। पिता ने ग्राम महेशपुरा के खेतों के पास ले जाकर दुष्कर्म किया। इसके बाद यह सिलसिला शुरू हो गया। उसे होटलों में ले जाया गया।

क्या है मामला?

नाबालिग छात्रा की शिकायत के अनुसार, जब वह 6वीं क्लास में पढ़ती थी तभी से उसके पिता उसका शारीरिक शोषण और रेप की घटना को अंजाम देते आ रहे हैं, फिर धीरे-धीरे नाबालिग छात्रा के साथ उसके पिता अपने अन्य दोस्तों से भी बलात्कार जैसी घटना को अंजाम दिलाने लगे, जिनमें सपा जिलाध्यक्ष तिलक यादव और बसपा जिलाध्यक्ष दीपक अहिरवार भी शामिल है। छात्रा के मुताबिक, इसका विरोध करने पर उसे और उसकी मां के साथ मारपीट कर जान से मारने की भी धमकी दी गई, जिसके खौफ की वजह से वो शांत रहे और उसके साथ सालों तक यह चलता रहा। पीड़ित छात्रा और उसकी मां ने जब इस मामले की शिकायत पुलिस अधीक्षक से की तो उन्होंने मामले की गंभीरता को देखते हुए कार्रवाई के आदेश दिए।


विरोध करने पर जान से मारने की मिलती थी धमकी

पीड़िता द्वारा पुलिस को दी गई शिकायत के मुताबिक, जब वह 6वीं क्लास (तब उम्र 11 साल) में पढ़ती थी, तभी से उसके पिता उसका शारीरिक शोषण करते आ रहे हैं। इसके बाद धीरे-धीरे उसके पिता अपने अन्य दोस्तों से भी बलात्कार जैसी घटना को अंजाम दिलाने लगे। जिसमें सपा जिलाध्यक्ष तिलक यादव, उनके भाई और बसपा जिलाध्यक्ष दीपक अहिरवार भी शामिल थे। वहीं, पीड़िता और उसकी मां के इस बात का विरोध करने पर दोनों के साथ मारपीट करते थे। उन्हें जान से मारने की धमकी भी दिया करते थे। इस खौफ चलते ही दोनों इतने लंबे समय तक चुप रहीं।

सपा जिलाध्यक्ष तिलक यादव ने दी सफाईरेप का आरोप लगने पर सपा जिलाध्यक्ष तिलक यादव ने कहा कि मैं आजतक आरोप लगाने वाली छात्रा से मिला भी नहीं हूं। तिलक यादव का कहना है कि उनको और उनके परिवार को बर्बाद करने की साजिश रची जा रही है। उन्होंने मामले की निष्पक्ष जांच करवाने की मांग की। साथ ही कहा कि अगर झूठा फंसाया जाता है तो वह बीच चौराहे पर आत्महत्त्या कर लेंगे। 

ये बीजेपी के लोगों का षड्यंत्र:बसपा जिलाध्यक्ष दीपक अहिरवार ने कहा कि मैं छात्रा को नहीं जानता हूं, ये पूरी साजिश है, जिस छात्रा ने अपने रिश्तेदारों के नाम पर भी शिकायत दर्ज करवाई है और वह अपने रिश्तेदारों के नाम भी अज्ञात बता रही है, लेकिन उसको जिले के सभी विपक्षी नेताओं के नाम मालूम है, ये पूरा षड्यंत्र है, भारतीय जनता पार्टी के लोगों का षड्यंत्र है।

Share this story