यूपी में ससुर ने लात घूसों से पीटा, फिर किया...
यूपी में ससुर ने लात घूसों से पीटा, फिर किया...n

 उत्तर प्रदेश।  मेरठ पुलिस इंटीरियर डिजाइनर अमित बंसल की आत्महत्या की वजह के करीब पहुंच गई है। पति-पत्नी के अलावा इस मामले में शामिल तीसरे व्यक्ति की तलाश शुरू हो गई है। पुलिस को अमित बंसल की काल डिटेल से ठोस जानकारी मिली है। अफसर दावा कर रहे हैं कि मोबाइल का लाक खुलने के बाद कई राज बेनकाब होंगे। पुलिस अमित के यार-दोस्तों से भी पूछताछ करेगी। उसके कुछ दोस्तों पर पुलिस नजर रख रही है।

शास्त्रीनगर में इंटीरियर डिजाइनर अमित बंसल की आत्महत्या में अहम सबूत के तौर पर सामने आई सीसीटीवी फुटेज ने दिल दहला देने वाली हकीकत बयां की है। इस फुटेज को देखकर यह स्पष्ट हो गया है कि परिवार में रिश्ते सिर्फ नाम के रह गए थे। फुटेज के मुताबिक, पुलिस का कहना है कि अमित के आत्महत्या करने के बाद जब पिंकी वहां पहुंची तो फंदे पर झूलता देख उसे उतारने की कोशिश की। बहुत देर तक कशमकश के बाद भी फंदा नहीं खुला तो उसने पेपर कटर से फंदा काट दिया। अमित का बेजान शरीर नीचे गिर गया। पिंकी को यकीन नहीं हुआ कि अमित की मौत हो चुकी है। वह उसके शरीर को बार-बार हिलाती रही। चीखती-चिल्लाती रही। अमित उठ जाओ, अमित आंख खोलो। लेकिन अमित की सांसें बहुत देर पहले ही साथ छोड़ चुकी थीं।

gth

फुटेज में नजर आ रहा है कि जब पिंकी को लग गया कि अमित अब जिंदा नहीं है तो उसने पहले उसी फंदे को अपने गले में डालने की कोशिश की लेकिन वह इसमें कामयाब नहीं हुई। इसके बाद उसने कटर से अपने हाथ की नस काट ली और अमित के साथ लिपटकर रोने लगी। इस सारे वाकये के दौरान अमित की मां कोने में खड़ी चुपचाप सब देखती रही। इसी दौरान आठ माह की पोती इक्कावीरा को गोद में लेकर रामकिशन वहां पहुंच गए। उन्होंने जाते ही अमित के शव से लिपटी लहूलुहान पिंकी को बुरी तरह लात-घूंसों से पीटना शुरू कर दिया। इसके बाद रामकिशन ने जमीन पर पड़ा कटर उठा लिया। फुटेज में यहीं से धुंधलापन है। लेकिन मौका-ए-वारदात का सीन यह स्पष्ट कर रहा है कि रामकिशन द्वारा उठाया गया कटर फेंका नहीं गया था। पिंकी की गर्दन पर उसी से वार किए गए। क्योंकि पहली फुटेज में पिंकी ने सिर्फ अपने हाथ की नस काटी, गर्दन पर वार रामकिशन ने ही किए।

बता दे कि,मनोज बंसल के पिता रामकिशन बंसल पेशे से एडवोकेट हैं। पूरे घटनाक्रम को वह अब तक पुलिस से छिपाते रहे। वह कानून के बारे में सब कुछ जानते हैं। ऐसे में साक्ष्य छिपाने के मामले में भी पुलिस उन पर धारा बढ़ा सकती है।

अमित बंसल आत्महत्या प्रकरण की रिपोर्ट एसआईटी ने गुरुवार को सौंप दी है। इसके आधार पर पिंकी पर कातिलाना हमले के आरोप में ससुर रामकिशन बंसल के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। एसआईटी ने फुटेज के आधार पर रिपोर्ट में रामकिशन द्वारा पिंकी से मारपीट और कटर से गर्दन पर हमला करने की पुष्टि की है।

नोएडा के जेपी अस्पताल में भर्ती पिंकी की गुरुवार को पट्टी बदली गई। उनकी हालत बिगड़ रही है। स्वजन का कहना है कि पिंकी बोलने की स्थिति में नहीं है। उसकी पट्टी बदलते समय हाथों पर जख्म देखे गए। मोहित का कहना है कि पिंकी पर किसी ने हमला किया है। उसने बचाव के लिए हाथ आगे किए तो कटर के निशान बन गए।

Share this story