वाराणसी के कैथी में गंगा-गोमती तट पर सजे हजारों दीपों से जगमगा उठा घाट
कैथी में गंगा-गोमती तट पर सजे हजारों दीपों से जगमगा उठा घाट

वाराणसी। देव दीपावली के अवसर पर आज कैथी स्थित श्री मार्कंडेय महादेव घाट से गंगा गोमती संगम घाट तक सवा लाख दीपों से जगमगा उठा. मां जान्हवी प्रज्ञा सेवा समिति के तत्वावधान में आयोजित कार्यक्रम में दोपहर से ही दीपक सजाने, बाती रखने और तेल डालने के कार्य में बच्चे और महिलाएं लगी हुयी थीं. शाम होते ही दीप प्रज्वलन प्रारम्भ हुआ और देखते ही देखते लगभग 1 किलोमीटर लम्बा गंगा गोमती का तट दीपों से जगमगाने लगा. दूर दराज से हजारों की सख्या पधारे भक्तों ने मार्कण्डेय महादेव धाम में दर्शन करके दीप दान किया. हजारो दीपकों के प्रवाहित किये जाने से गंगा की छवि और आकर्षक हो गयी थी. इस अवसर पर मा गंगा का पूजन कर आरती की गयी. गंगा तट पर भक्तिपूर्ण सांस्कृतिक कार्यक्रम वाराणसी के कलाकारों द्वारा आयोजन भी किया गया जिसमें मुख्य रूप से भोजपुरी कलाकार वीरेंद्र चौहान निरहु अन्य साथी कलाकारों के   द्वारा भक्ति भजन का कार्यक्रम पेश किया गया। 


कैथी स्थित छोटा शिवाला घाट पर भी स्थानीय युवकों द्वारा आकर्षक दीप मालाए सजाई गयी। ढाखा स्थित गौरीशंकर महादेव घाट पर 51 हजार दीप प्रज्वलित किये गए यहां पं प्रभुनाथ चौबे के निर्देशन महा आरती, गंगा पूजन और प्रसाद वितरण एवं भंडारा का आयोजन किया गया।गंगा की धारा में स्थापित की गयी महादेव जी, माँ पार्वती और गणेश जी प्रतिमा की छटा लोगों को बहुत आकर्षित कर रही थी।

कैथी में गंगा-गोमती तट


सरसौल स्थित महाकाल मंदिर घाट पर लकी फाउंडेशन और समदर्शी महाकाल सेवा समिति के सौजन्य से गंगा किनारे दीप प्रज्वलित कर भव्य तरीके से देव दीपावली का आयोजन किया गया. इसके अतिरिक्त राजवारी में गोमती तट, चन्द्रावती में किला घाट, गौर उपरवार में गंगा घाट आदि पर भी दीप सजा कर देव दीपावली उत्साह से मनाई गयी।जिसमे मुख्य रूप से वाराणसी जिला पंचायत अध्यक्ष पूनम मौर्या  महंत आचार्य भारत भूषण दास महाराज. कैथी मंदिर समिति से नितेश गोस्वामी मंगरु महाराज राजवंश गिरी श्रवण सिंह शशांक सिंह रघुवंशी आदि लोग मौजूद रहे।

Share this story