चंदौली के उत्पाद विदेशों में होगे निर्यात, मिलेगी अलग पहचान। वाराणसी कमिश्नर ने उद्यमियों को दिलाया भरोसा
*चंदौली के उत्पाद विदेशों में होगे निर्यात, मिलेगी अलग पहचान। वाराणसी कमिश्नर ने उद्यमियों को दिलाया भरोसा

चंदौली जिले के औद्यागिक क्षेत्र के उत्पादों का निर्यात अब विदेशों में होगा। इससे उद्यमियों और जिले की नई पहचान स्थापित होगी। पड़ाव के एक होटल में आयोजित निर्यातक कांक्लेव में वाराणसी मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल ने उद्यमियों को भरोसा दिलाते हुए कहा। डीएम संजीव सिंह के पहल का भी कमिश्नर ने जमकर सराहना की। दरसल, चंदाली जिले के रामनगर औद्यौगिक क्षेत्र में कई बड़ी कंपनियों की ईकाई स्थापित है। जहां के उत्पादों की विदेशों में डिमांड अधिक है। लेकिन तकनीति दिक्कतों के चलते निर्यात में समस्या होती है। लेकिन आगे इस समस्या का समाधान करने के लिए जिला प्रशासन काफी हद तक सफल रहा है।

*चंदौली के उत्पाद विदेशों में होगे निर्यात, मिलेगी अलग पहचान। वाराणसी कमिश्नर ने उद्यमियों को दिलाया भरोसा

वहीं एक जनपद एक उत्पाद(ओडीओपी) के तहत जरी जरदोजी को भी निर्यात करने की व्यवस्था हो चुकी है। अब औद्योगिक क्षेत्र में ही एक डिस्पलें सेंटर बनाया जाएगा। जहां विदेशों के बायर उत्पादों को परखने के साथ आर्डर बुक कर सकेंगे। कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने नए उद्यमियों को एक्स्पोज़र विजिट कराने और उत्कृष्ट पैकेजिंग पर जोर दिया। कहा कि नवंबर माह में फूड फूड फेस्टिवल में जनपद के उद्यमी अपने उत्पादों का डिस्प्ले कर सकते हैं। इस दौरान विशिष्ट उत्पादों की प्रदर्शनी का भी आयोजन किया गया। डीएम संजीव सिंह ने उद्यमियों की हरसंभव मदद करने का आश्वासन दिया। साथ कि उद्योग उपायुक्त गौरव मिश्रा को उद्यमियों की समस्याओं का तत्काल निदान करने का सुझाव दिया।

Share this story