पोषण के प्रति जागरूकता से दूर होगा कुपोषण: सीडीपीओ
आंगनबाड़ी केंद्रों पर किए जा रहे गोदभराई व अन्नप्राशन कार्यक्रम 

आंगनबाड़ी केंद्रों पर किए जा रहे गोदभराई व अन्नप्राशन कार्यक्रम 

चन्दौली। बुधवार को पोषण अभियान को जन आंदोलन का रूप देने व गर्भवती को स्वस्थ व सुपोषित रखने के लिए आंगनबाड़ी केंद्रों पर गोदभराई, अन्नप्राशन कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। इसके साथ ही गृह भ्रमण कर गर्भवती व धात्री माताओं तथा बच्चों व किशोर–किशोरियों को पोषण की जानकारी दी जा रही है।


बाल विकास परियोजना अधिकारी (सीडीपीओ) राम प्रकाश मौर्य ने बताया कि कुपोषण को दूर करने के लिए जरूरी है कि गर्भवती न सिर्फ संतुलित आहार लें बल्कि स्वच्छता, समय से चिकित्सीय जांच और परिवार नियोजन के प्रति भी जागरूक हों| इसके साथ ही बच्चे घर का बना ही खाना खाएं। आजकल बच्चे फास्ट फूड ज्यादा पसंद कर रहे हैं। जबकि हरी सब्जियों में पालक, बथुआ, सोया, मेथी आदि से रोग-प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है| खून की कमी (एनीमिया) भी दूर होती है। 


    सीडीपीओ मौर्य ने बताया कि ब्लॉक में बरहनी परियोजना में पांच वर्ष तक के 20,395 बच्चे हैं। इसमें 20,365 बच्चों का वजन किया गया है। बरहनी परियोजना में 59 बच्चे अतिकुपोषित यानि लाल श्रेणी के हैं जबकि 328 बच्चे मध्यम कुपोषित यानि पीली श्रेणी और 19978 बच्चे सामान्य यानी हरी श्रेणी के हैं।

Share this story