×

Chanduli News: थाना-साइबर सेल चन्दौली खाते से उड़ाए 34990/- रुपये साइबर सेल चन्दौली ने कराये वापस

Chanduli News: थाना-साइबर सेल चन्दौली खाते से उड़ाए 34990/- रुपये साइबर सेल चन्दौली ने कराये वापस

साइबर हेल्प लाइन 1930 ने किया कमाल, ठगों के खाते में किया प्रहार जागरूकता ही है साइबर क्राइम से बचने का सबसे बड़ा हथियार साइबर सुरक्षा हमारी आधुनिक, डिजिटल दुनिया का अनिवार्य पहलू है।


साइबर ठगी के हुए हैं शिकार, तो न हों निराश, अब चन्दौली पुलिस है आपके साथ खाते से उड़ाए 34990/- रुपये साइबर सेल चन्दौली ने कराये वापस, पीड़ित के चेहरे पर लौटी मुस्‍कान चन्दौली द्वारा लगातार साइबर क्राइम के शिकार हुए पीडितों के पैसे करा रही है वापस चन्दौली पुलिस द्वारा वर्ष 2024 में आज तक कुल 11 लोगों के 644516/ रू0 वापस कराये गये हैं।
चन्दौली पुलिस द्वारा लगातार लोगों को जागरूक करने के लिए साइबर सुरक्षा से सम्बन्धित जागरूकता अभियान भी चलाया जा रहा है। 
            
चन्दौली- वर्तमान तकनीकि युग में फ्राड करने वाले तरह- तरह के तरीके अपनाते हुए लोगो को मूर्ख बनाकर उनके खाते से पैसा निकाल रहे है इसी क्रम में रामबचन पुत्र शिवप्रकाश  निवासी ग्राम- मनीहरा पोस्ट-खडेहरा थाना सकलडीहा जनपद चन्दौली के बचत खाते से फ्राडर द्वारा यु0पी0आई0 के माध्यम से प्रार्थी/पीडित के पैसा बिना उसकी जानकारी के निकाल लिया गया ।।जिसके सम्बन्ध में प्रार्थी/पीडित श्री रामबचन पुत्र शिवप्रकाश  द्वारा दिनांक 03.04.2024 को फ्राड होने के सम्बन्ध में साइबर सेल जनपद चन्दौली को आकर प्रार्थना पत्र दिया गया। 


जिसके उपरान्त  डॉ0 अनिल कुमार  पुलिस अधीक्षक चन्दौली  व अपर पुलिस अधीक्षक श्री विनय सिंह व पुलिस उपाधीक्षक आशुतोष द्वारा  प्रभारी साइबर क्राइम थाना को त्वरित कार्यवाही हेतु निर्देशित किया गया। जिस पर प्रभारी साइबर क्राइम मय टीम द्वारा त्वरित कार्यवाही करते प्रार्थी/पीडित रामबचन पुत्र शिवप्रकाश   को कुल 34990/-रु0धनराशि वापस कराये गये।


साइबर जागरूकता के लिए चन्दौली पुलिस लगातार समर्पित


 विगत कई वर्षों से चन्दौली पुलिस लगातार साइबर सुऱक्षा से सम्बन्धित जागरूकता कार्यक्रम आयोजित करके पूरे जनपदवासियों को साइबर फ्राड के प्रति जागरूक करती चली आ रही है। लगातार स्कूल, कॉलेज व ग्रामों मे गोष्ठी का आयोजन करके लोगों को वर्तमान समय में हो रहे  नये-नये तरीके के साइबर क्राइम व हेल्पलाइन नम्बरों की जानकारी लोगों को दी रही है। इसी क्रम में अग्रलिखित साइबर सुरक्षा सम्बन्धी उपायों को भी हमेशा ध्यान रखना चाहिए-

https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-2953008738960898" crossorigin="anonymous">


अनाधिकृत ग्राहक सेवा अधिकारी के फोन कॉल से बचना- किसी भी अनजान फोन कॉल को उठाने से बचना चाहिए। किसी भी प्रकार की व्यक्तिगत बैंकिग,पासवर्ड या ओटीपी से सम्बन्धित जानकारी किसी भी अनजान व्यक्ति से सांझा न करें। कोई भी बैंक या संस्था फोन कॉल के माध्यम से कोई ओटीपी या अन्य जानकारी नही मांगता है।


ईमेल सुरक्षा:-   ईमेल आज व्यवसायों के लिए सबसे महत्वपूर्ण संचार उपकरणों में से एक है। हालाँकि, यह फ़िशिंग, रैंसमवेयर, मैलवेयर सहित कई प्रकार के साइबर अपराध के लिए प्रवेश बिंदु भी है। इसलिए, आपको दुर्भावनापूर्ण ईमेल हमलों से बचने के लिए ईमेल सुरक्षा प्रशिक्षण महत्वपूर्ण है। ईमेल सुरक्षा प्रशिक्षण से आपको असुरक्षित लिंक और अटैचमेंट के प्रति सचेत रहने में मदद मिलेगी।


ब्राउज़र सुरक्षा:- वेब ब्राउज़र हैकर्स के लिए बडा टारगेट हैं क्योंकि वे इंटरनेट के प्रवेश द्वार हैं। किसी भी अनजान लिंक को खोलने से बचना चाहिए । हैंकर आपको नौकरी,इनाम,गेम खेलकर पैसे जीतने,या लकी नाम के आधार पर पैसे देने के लिए लिंक शेयर करके फ्राड किया जा सकता है।  आपके द्वारा ऑनलाइन देखी जाने वाली सभी वेबसाइटें सुरक्षित नहीं हैं।  


पासवर्ड सुरक्षा: प्रत्येक नेट बैंकिग यूजर,गूगल पे,फोन पे या किसी भी प्रकार के आनलाइन फड ट्रान्सफर करने वाले एप्प के पासवर्ड समय समय से परिवर्तित करते रहना चाहिए। एक पासवर्ड के लंम्बे समय तक नही प्रयोग करना चाहिए। और किसी भी अनजान या अविश्वसनीय व्यक्ति से पासवर्ड साझा करने से बचने चाहिए। 


अनाधिकृत/अनजान एप्प को डॉउनलोड न करना- किसी भी अनजान एप्प को डॉउनलोड करना से बचना चाहिए।
सूचना सुरक्षा: आपके संगठन की जानकारी सबसे बेशकीमती संपत्ति है। इसलिए इसकी गोपनीयता, अखंडता और उपलब्धता की रक्षा करना हर किसी की जिम्मेदारी होनी चाहिए। संवेदनशील जानकारी को सुरक्षित रूप से संभालने, साझा करने, संग्रहीत करने और निपटान करने के बारे में अपने आपको प्रशिक्षित करें।  


चन्दौली पुलिस की अपील-  यदि किसी भी व्यक्ति के साथ जानकारी के अभाव में किसी भी प्रकार साइबर फ्राड हो जाता है तो तुरंत हेल्पलाइन नंबर - 1930 (पहले 155260) – 24*7 को डॉयल कर अपनी शिकायत दर्ज करायें फिर साइबर थानें आकर लिखित शिकायती प्रार्थना पत्र देकर शिकायत पजीकृत करा सकते है। उपरोक्त जानकारी को अपने परिजनों /पहचान के सभी व्यक्तियों से सांझा करें।

Share this story