×

Chandauli News: चंदौली के लाल मेजर शुभांग को मिला कीर्ति चक्र, कंधे में गोली लगने के बावजूद आतंकी को किया था ढेर

Chandauli News: चंदौली के लाल मेजर शुभांग को मिला कीर्ति चक्र, कंधे में गोली लगने के बावजूद आतंकी को किया था ढेर

चंदौली। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु ने चंदौली के मेजर शुभांग को कीर्ति चक्र देकर सम्मानित किया। 2023 के वीरता पुरस्कारों में दो जवानों को कीर्ति चक्र और सात को शौर्य च्रक से सम्मानित किया गया। मेजर शुभांग को जम्मू-कश्मीर के बड़गाम में आतंकियों से मुठभेड़ के दौरान अदम्य साहस के प्रदर्शन पर यह मेडल मिला है।

चंदौली मुख्यालय निवासी मेजर शुभांग पिछले साल अप्रैल में 62 राष्ट्रीय राइफल्स की टुकड़ी की अगुवाई कर रहे थे। इसी दौरान बडगाम के एक गांव में आतंकवादियों के छिपे होने की खबर मिली। मेजर शुभांग के नेतृत्व में सुरक्षाबलों की टीम मौके पर पहुंची। दोनों तरफ से गोली-बोरी शुरू हो गई। इसी बीच आतंकियों की गोली मेजर शुभांग के कंधे में लगी।

इसके बावजूद उन्होंने अदम्य साहस दिखाते हुए एक आतंकवादी को मार गिराया। सेना ने मेजर शुभांग के प्रशस्ति पत्र में लिखा है कि मेजर और आतंकी के बीच की दूरी 10 मीटर भी नहीं थी। दूसरा आतंकी लगातार सैनिकों पर गोली चला रहा था। मेजर शुभांग घायल हालत में रेंगते हुए उसकी तरफ बढ़े। मेजर शुभांग के मूवमेंट ने उस आतंकी को पास के एक घर में शरण लेने पर मजबूर कर दिया।

https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-2953008738960898" crossorigin="anonymous">

चारों तरफ से घिर चुके इस आतंकी को भी सेना ने ढेर कर दिया। मेजर शुभांग बुरी तरह घायल थे, इसके बावजूद वह अपने घायल साथियों को वहां से निकालने में लगे रहे। उन्हें सबसे आखिर में रेस्क्यू किया गया।

NDA की परीक्षा पास कर बने मेजर

चंदौली जिला मुख्यालय स्थित कैली रोड के रहने वाले बिमलेंदु राय और सुधा राय के एकलौते पुत्र मेजर शुभांग की प्राथमिक से लेकर उच्च शिक्षा प्रयागराज में हुई। बचपन से विलक्षण प्रतिभा के धनी शुभांग, किशोरवस्था से ही सेना में जाने का निश्चय किया जिसके पश्चात उन्होंने एनडीए की परीक्षा पास की और सेना में मेजर बने।

Share this story