चंदौली में ईंट भट्ठा संचालक ने पाट दी नहर, दो सौ एकड़ खेत की सिंचाई प्रभावित, ग्रामीणों ने प्रदर्शन करके किया विरोध
चंदौली में ईंट भट्ठा संचालक ने पाट दी नहर, दो सौ एकड़ खेत की सिंचाई प्रभावित, ग्रामीणों ने प्रदर्शन करके किया विरोध

एसडीएम का आदेश भी नहीं माना

खबर यूपी के जनपद चंदौली से है चंदौली जिले के सैयदराजा थानाक्षेत्र के प्रीतमपुर गांव में एक ईंट भट्ठा संचालक के द्वारा नहर को पाटकर रास्ता बना दिया गया है। इससे करीब दो सौ एकड़ खेत की सिंचाई बाधित हो गई है।

ऐसे में प्रभाावित किसानों ने शुक्रवार को विरोध प्रदर्शन करके नहर की खुदाई कराने की मांग की। बोले, दबंग प्रवित्ति के चलते लोगों को हमेशा धमकाता है। ऐसे लोग उससे बात करने में भी सहमते है। जबकि सदर एसडीएम ने पुलिस को समस्या का निदान कराने का आदेश दे रखा है।

आपको बता दें कि मुख्य गंगा नहर से काजीपुर के समीप डुमरी माइनर निकलती है। जिससे दर्जनों गांव के सैकड़ों एकड़ खेत की सिंचाई होती है। लेकिन प्रीतमपुर गांव के समीप श्रेया मार्का ईंट संचालक के द्वारा नहर को पाटकर रास्ता बना दिया गया है। इससे लगभग दो सौ एकड़ रकबा वाले खेतों की सिचाई बाधित है।

इससे नाराज प्रीतमपुर और अन्य गांवों के दर्जनों किसानों ने शुक्रवार को नहर के पास खड़े होकर प्रदर्शन किया। गांव के ही गुड्डू मौर्य ने बताया कि भट्ठा संचालक काफी दबंग प्रवित्ति का है। उसके कृत्य के खिलाफ सिंचाई विभाग के अफसरों को अवगत कराया गया। लेकिन विभाग के अफसर इसके बाद भी अनजान बने है। किसान रामप्रवेश ने बताया कि खेत में पानी नहीं जाने के चलते धान की नर्सरी को निजी नलकूप के सहारे सिंचित कर रहे है।

तहसील और पुलिस के अफसरों से भी गुहार लगाया गया है। अब अगर अफसर मामले का संज्ञान लेंगे तो किसानों को फसल की सिंचाई करने में सहूलियत हो जाएगी। ग्रामीण बलवंत ने बताया कि एक वर्ष के भट्ठा संचालक के द्वारा किसानों को परेशान किया जा रहा है।

संचालक के दबंगई के चलते लोग विरोध करने के बजाय निजी संसाधनों से सिंचाई करने को मजबुर है। इस दौरान सारनाथ राम, सुबेदार, रामशकल, क्षेंगुर, ज्ञान प्रकाश आदि मौजूद रहे।

Share this story