×

Chandauli Samachar: चंदौली में ग्राम प्रधानों का हल्लाबोल, सरकार की नीतियों के खिलाफ जबर्दस्त प्रदर्शन

Chandauli Samachar: चंदौली में ग्राम प्रधानों का हल्लाबोल, सरकार की नीतियों के खिलाफ जबर्दस्त प्रदर्शन

चंदौली में नौ ब्लाकों के प्रधान संघ संगठनो के नेतृत्व में ग्राम प्रधानों ने पैदल मार्च व नारेबाजी करते हुए कलेक्ट्रेट पहुंचकर प्रधानमंत्री और सीएम के नाम संबोधित ज्ञापन एडीएम को सौंपा

खबर जनपद चंदौली से है जहां सदर मुख्यालय पर ग्राम प्रधान संगठन उत्तर प्रदेश के नेतृत्व में जनपद के नौ ब्लाकों के ग्राम प्रधान सरकार की नीतियों के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए नारेबाजी की। इस दौरान बड़ी संख्या में ग्राम प्रधानों का हुजूम सदर ब्लाक से पैदल मार्च और नारेबाजी करते हुए कलेक्ट्रेट पहुंचा। विदित हो कि पूरे प्रदेश में ग्राम प्रधानों द्वारा सरकार की मनरेगा के NMMS योजना और वित्तीय कटौती के खिलाफ प्रदर्शन जारी है।

 

 

इसी क्रम में जनपद चंदौली के ग्राम प्रधान 12 सूत्रीय मांगों के समर्थन में आज प्रदर्शनरत हैं। उन्होंने कलेक्ट्रेट पहुंचकर 12 सूत्रीय ज्ञापन जिला प्रशासन को सौंपते हुए प्रधानहित में पूर्ण किए जाने की मांग की।

 

इस दौरान ग्राम प्रधान संघ जिलाध्यक्ष पवन प्रताप सिंह ने कहा कि ग्राम पंचायत की निधि का 30% हिस्सा काटकर जो क्षेत्र पंचायत और जिला पंचायत को दे दी गई है उसके विरोध में पूरे प्रदेश में ग्राम प्रधान आंदोलन रत हैं। साथ ही मनरेगा योजना के एनएमएमएस प्रणाली से मजदूरों का भुगतान करने में समस्या आ रही है, जिसको लेकर प्रदर्शन किया जा रहा है।

मांग किया कि मनरेगा में पांच लाख के वित्तीय स्वीकृति का अधिकार ग्राम पंचायत को दिया जाए। साथ ही भुगतान का अधिकार प्रधानों को सौंपा जाए।मनरेगा का पैसा ग्राम पंचायतों के खाते में भेजा जाए, जिससे की मजदूरों का भुगतान समय से किया जा सके।

कहा कि केंद्रीय वित्त एवं राज्य वित्त से प्राप्त होने वाली धनराशि से ग्राम पंचायतों की मूलभूत सुविधाओं को पूरा करने में कठिनाई आ रही है। बताया कि यदि हमारी 12 सूत्रीय मांगे नहीं पूरी हुई तो प्रदेश नेतृत्व की रणनीति के तहत अनिश्चितकालीन आंदोलन और लखनऊ कुच किया जाएगा।

https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-2953008738960898" crossorigin="anonymous">


वहीं प्रधान संघ महासचिव यूपी घनश्याम पांडेय ने सरकार की नीतियों पर जमकर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार ग्राम प्रधानों को बंधुआ मजदूरी के तौर पर कार्य करा रही है, यदि मांगों पर विचार नहीं किया गया तो प्रधान कार्य ठप कर, लखनऊ बंद करने का कार्य करेंगे।


इस दौरान चहनिया प्रधान संघ के अध्यक्ष राजेश यादव ने कहा कि हमारी मांगों पर सरकार विचार करे और जल्द अमल में लाए प्रत्येक पंचायत में रोजगार सेवकों के तबादले की नीति, एक स्थायी सचिव की तैनाती की जाए।

कहा कि चंदौली में नेटवर्क की समस्या के कारण मोबाइल फोन से हाजिरी लगवाने में कठनाई आ रही है, जिसे देखते हुए नियम लागू किए जाएं।

इस अवसर पर रिंटू सिंह, अमित सिंह, गोपाल यादव, सुषमा गिरी, मंजू वर्मा, नामवर सिंह समेत बड़ी संख्या में ग्राम प्रधान उपस्थित रहे।

Share this story