×
Chandauli samachar: चंदौली की चर्चित डीएम ईशा दुहन की नज़र अब डेडीकेटेड फ्रेट कॉरिडोर परियोजना पर
Chandauli samachar: चंदौली की चर्चित डीएम ईशा दुहन की नज़र अब डेडीकेटेड फ्रेट कॉरिडोर परियोजना पर

चन्दौली। डेडीकेटेड फ्रेट कॉरिडोर परियोजना के कार्यों समयांतर्गत कार्यों को पूर्ण कराने के सम्बन्ध में जिला अधिकारी श्रीमती ईशा दुहन की अध्यक्षता में जिला अधिकारी अनुश्रवण कक्ष में आहूत की गई ।

 chandauli today latest hindi news

 

 

 

बैठक में जिला अधिकारी ने जनपद में डेडीकेटेड फ्रेट कॉरिडोर परियोजना द्वारा कराए जा रहे कार्यों की प्रगति पर चर्चा करते हुवे कार्यों को  निर्धारित समय से पूर्ण कराने का निर्देश दिया। 


सेतु निगम तथा रेलवे विभाग द्वारा निर्माणाधीन रेलवे ओवर ब्रिज 83 मटकुट्टा का शेष कार्य जल्द से पूर्ण कर जनपदवासियो को नववर्ष पर उपहार स्वरूप देने को रेलवे विभाग और सेतु निर्माण को निर्देशित किया तथा डेडीकेटेड फ्रेट परियोजना में जल्द से जल्द कार्य शुरू करा  निर्धारित समय  पूर्ण करा लेने को उप मुख्य परियोजना प्रबंधक इंजीनियरिंग प्रथम को दिया।

 

साथ ही कृषि एवं आवासीय जमीनों की जॉच करा कर आगे की कार्यवाही शुरू करे।बैठक के दौरान अपर जिलाधिकारी (विoएवं राo) उमेश  कुमार मिश्रा मुख्य महाप्रबंधक अतुल कुमार, महाप्रबंधक सुरक्षा आशीष मिश्रा,

उप जिलाधिकारी सदर उप परियोजना प्रबंधक सेतु निगम अनिरुद्ध कुमार यादव, उप मुख्य परियोजना प्रबंधक इंजीनियरिंग प्रथम सहित अन्य सम्बन्धी आधिकारी/कर्मचारी उपस्थित रहे।

चंदौली: 2 एकड़ में बन रही मुलायम सिंह यादव की कुटिया, मनोज सिंह डब्लू ने जयंती पर दी श्रद्धांजलि

चंदौली समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव व सैयदराजा के पूर्व विधायक मनोज सिंह डब्लू ने मंगलवार को मुलायम सिंह यादव को उनकी जयंती पर अभूतपूर्व श्रद्धांजलि दी। उन्होंने अपने पैतृक गांव माधोपुर में नेताजी की कुटिया का शिलान्यास किया। जिसमें मुलायम सिंह यादव की स्मृतियों को सहेजने के लिए संग्रहालय का निर्माण होगा।

इस दौरान मनोज सिंह डब्लू ने कहा कि माधोपुर में मुलायम सिंह यादव की कुटिया दो एकड़ में बनाने की योजना है। इसके अंतर्गत व्यायामशाला, अखाड़ा और उनकी यादों को संजोने के लिए संग्रहालय के साथ ही गेस्ट हाउस का निर्माण कराया जाएगा।

उन्होंने बताया कि संग्रहालय में देश-विदेश में मुलायम सिंह के ऊपर लिखी सभी पुस्तकों का कलेक्शन होगा, ताकि उन्हें जानने-समझने व पढ़ने वाले लोग यहां आएं और उनकी स्मृतियों व उनके जीवन से साक्षात रूबरू हों।

Share this story