×

Chandauli News: गरीबों की सेवा ही ईश्वर की सेवा

Chandauli News: गरीबों की सेवा ही ईश्वर की सेवा

चंदौली गरीबों की सेवा ही ''ईश्वर'' की सेवा है -गरीबों की  सेवा करने से मिलती है। आत्म संतुष्टी ग्राम भैंसा पो पिपरी जिला चन्दौली निवासी उदयनाथ राय अपनी धर्म पत्नी के 9 वी पुण्य तिथि पर अपने परिवार के लोगों के साथ गरीबों में 101 कम्बल का  वितरण किया।

इस मौके पर उनके  पुत्रों राजेश राय , कमलेश राय  बिमलेश वब्बी राय नातियो निशांत राय  सन्देश  राय द्वारा ये कहाँ गया की जो भी प्राप्त है और आज हम्म जो कुछ भी है ओ सब हमारी माता जी का आशीर्वाद है । इस मौके पर सांसद प्रतिनिधि रमेश राय, राधेश्याम राय, मदन राय, और समस्त ग्राम वासी उपस्थित रहे।

यह भी पढ़े:-

चंदौली ने इस संस्था ने उठाया जिम्मा, अब प्रत्येक जरूरतमंदों तक पहुंचेगा सरकारी योजना

चंदौली ने इस संस्था ने उठाया जिम्मा, अब प्रत्येक जरूरतमंदों तक पहुंचेगा सरकारी योजना

चन्दौली वार्ड नंबर 12 गौतम नगर निवासी अजीत कुमार सोनी द्वारा जन सहयोग संस्थान के स्थापना का मुख्य उद्देश्य समाज सेवा है। हमने संस्थान की स्थापना गरीब व जरूरत मंदो की सहायता के लिए किया है ताकि जिन जरूरत मंद लोगों तक सरकारी योजनाएं समय से नही पहुंच पा रही हैं, संस्था द्वारा उन्हें जरूरतमंदों तक पहुंचाया जा सके।

मलिन बस्तियों के बच्चें जो विद्यालय नहीं जा रहे हैं उन्हें निःशुल्क प्रदान किया जाए। मैं सभी की मदद तो नहीं कर सकता लेकिन कुछ लोगों की मदद तो जरूर कर सकता हूं। निःशुल्क शिक्षा प्रदान करने के हमने ई चौपाल की स्थापना जगह जगह पर किया है। निःशुल्क शिक्षा के लिए हमने कई गावों में शिक्षकों की नियुक्ति की है जिससे लोगो को रोजगार के अवसर भी मिल रहा है।

कोरोना काल में हमने निशुल्क माक्स, सेनेटाइजर व खाद्य सामग्रियों का वितरण कराया ताकि इस महामारी से निपटने में लोगो की सहायता की जा सके और की भूखा ना सोए। वर्तमान में ठंड के मौसम में हमने कई गावों में वृद्धों व विधवा महिलाओं में कम्बल व नए कपड़ो का वितरण कराया ताकि ठंड में लोगो की सहायता की जा सके।

जरूरतमंद लोगों के लिए मैं समय समय पर रक्तदान करता रहता हूं, ताकि खून के अभाव में किसी की मृत्यु ना हो। लोग तो अपने रिश्तेदारों को भी रक्तदान करना नहीं चाहते है लेकिन मैंने जितनी बार भी रक्तदान किया है उन्हें मैं जानता भी नहीं हूं। अभी तक मैने कुल 17 बार रक्तदान किया है।

समय-समय पर हम लोग वृक्षारोपण का कार्य भी करते रहते है ताकि पर्यावरण का संतुलन बना रहे। भीषण गर्मी को देखते हुए हम लोगों ने पंक्षियों के लिए दाना पानी की व्यवस्था भी करते है जिससे पंछियों की घटती हुई संख्या को नियंत्रित किया जा सके। संस्था के द्वारा लोगों के लिए रोजगार के अवसर प्रदान किए जा रहे है।

Share this story